आज बहुत से लोग शेयर मार्किट के अन्दर ट्रेडिंग करते है और अच्छे पैसे कमाते है इसके साथ बहुत से लोग Forex ट्रेडिंग भी करते है इसके अन्दर भी बहुत से लोग अच्छे पैसे कमाते है लेकिन बहुत से लोगो को Forex ट्रेडिंग के बारे में इतना पता नही है इस लिए वह ट्रेडिंग नही कर पाते है तो आपको बता दे Forex , जिसे विदेशी मुद्रा, एफएक्स या Currency Trading, के रूप में भी जाना जाता है|

Forex Trading in India in Hindi

फॉरेक्स ट्रेडिंग कैसे करे ?

अगर आप के मन में भी ये सवाल है के ऑनलाइन फॉरेक्स ट्रेडिंग कैसे शुरू करे? तो आप सही जगह पर है| तो जानते है फोरेक्स ट्रेडिंग सूरु करने के क्या स्टेप्स है| हमारी राय में सबसे पहले आपको फोरेक्स मार्किट के बारे में बुनियादी बातो को सिख लेना चाहिए| इससे फायदा ये होगा के आपको नुकसान कम और प्रॉफिट ज्यादा होने के चान्सेस होंगे| अगर आप को फोरेक्स की जानकारी है तो फोरेक्स ट्रेडिंग के लिए आपको एक अच्छे ब्रोकर के साथ फॉरेक्स अकाउंट खोल सकते है । इसके लिए आप रिसर्च करे और बेस्ट फोरेक्स ब्रोकर चुने। फिर ट्रेडिंग खाता खोलने के लिए, ब्रोकर वेबसाइट पर जाएं, और ऑनलाइन अकाउंट बना ले।

अगर फोरेक्स ट्रेडिंग में आप बिलकुल ही नए है तो ऐसे में; फोरेक्स ट्रेडिंग के फंडामेंटल्स जानना समझदारी की बात है | इस पोस्ट में हम लिवरेज क्या होता है ? पिप्स क्या होती है ? स्प्रेड्स क्या होता है ? और मार्जिन क्या होता है इसका क्या महत्त्व है इन जैसे बहोत ही बेसिक बातो को समझेंगे|

लिवरेज क्या होता है?

तो हम उन में से प्रत्येक को समझने का प्रयास करते है | उत्तोलन - अगर सही ढंग से कहा जाए तो ये उधार के पैसे है| अब सवाल ये आता है के ये पैसे हमे कब मिलते है और कैसे काम में आते है उत्तोलन फंड की गुणा राशि है| ये अनुपात में होती है जैसे 1:50, 1:100, 1:200 और इसी तरह के अनुपात में मापा जाता है।

तो, अब समझते है के ये राशि कब मिलती है और इसका ट्रेडिंग में क्या फायदा होता है| मान लीजिये अगर आप 200,000 जमा करते हैं, और आपको ट्रेडिंग अप्प के द्वारा लिवरेज १:५० है तो आपको अपने खाते में $5,000 प्राप्त होंगे।

लेकिन सोचने वाली बात ये है के क्या सही में हमे ट्रेडिंग अप्प इतनी सारी राशि मुफ्त में दे देगी ? नहीं, जैसे मैने सुरु में ही बोलै था के ये उधर के पैसे है जो हमें हमारे ट्रेडिंग अप्प द्वारा ट्रेड करने के लिये मिलते है जो हमे लौटने भी पड़ते है|

"लिवरेज के फायदे और नुक्सान"

लिवरेज का सबसे बड़ा फायदा ये है के अगर हमारे पास राशि की कमी है तो लिवरेज की मद्त से हम फिर भी ट्रेड कर सकते है| जिससे हमे फायदा पहले की मात्रा में ज्यादा हो सकता है |

लिवरेज का नुक्सान ये है के, लिवरेज उधार का पैसा है जो हमे चुकाना ही पड़ेगा चाहे हमें फायदा हो या नुक्सान | ट्रेडिंग अप्प लिवरेज पर कुछ मात्रा में व्याज भी लेती है जो हमे चुकानी पड़ती है | अगर हम लिवरेज ब्रोकरेज फर्म को अदा नहीं कर पाये तो ये हमारी ट्रेडिंग या इन्वेस्टमेंट में से सिक्योरिटीज को बेच कर उतनी राशि वसूल कर सकती है |

फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है (What is Forex Trading in Hindi):

फॉरेक्स ट्रेडिंग में पहला शब्द फ़ॉरेक्स का अर्थ फॉरेन एक्सचेंज होता है। साधारण शब्दों में फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग का अर्थ एक दुसरे के बीच विभिन्न विदेशी मुद्राओं का व्यापार करना है अर्थात इस प्रक्रिया के अंतर्गत विभिन्न देशों की मुद्राओं में उनके मूल्य के घटते बढ़ते रहने के कारण व्यापार होता है। कोई भी व्यक्ति जो विदेशों से किसी भी प्रकार का कोई सौदा करना चाहता है उसे वह सौदा खरीदने के लिए उस देश की मुद्रा की आवश्यकता हो सकती है।

चाहे कोई छुट्टी पर भ्रमण करने के लिए गया हो, या फिर वह विदेश से कुछ खरीदना चाहता हो, या किसी सर्विस के लिए भुगतान कर रहा हो इत्यादि के लिए उसे उस देश की मुद्रा की आवश्यकता होती है। उदाहरणार्थ: अमेरिका में स्थित कॉलेज का शुल्क देने के लिए व्यक्ति को US Dollor की आवश्यकता हो सकती है, क्योंकि अमेरिका में स्थित कॉलेज भारतीय रूपये में फीस स्वीकार नहीं करेगा। इसलिए डॉलर में भुगतान करने के लिए सर्वप्रथम व्यक्ति को US Dollor खरीदने होंगे।

फॉरेक्स ट्रेडिंग कैसे काम करती है ?

फॉरेक्स ट्रेडिंग भी इक्विटी ट्रेडिंग की तरह ही है बस फर्क सिर्फ इतना है की इक्विटी ट्रेडिंग में कमाई या नुकसान के लिए शेयर का मूल्य निर्णायक भूमिका में होता है। तो वहीँ फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग में एक्सचेंज मूल्य निर्णायक भूमिका में होता है। फॉरेक्स ट्रेडिंग से कमाई करने के लिए व्यक्ति अपनी अपेक्षा एवं जानकारी के अनुसार कोई भी मुद्रा खरीद सकता है। और अच्छे ढंग से समझने के लिए आप नीचे दिए गए उदाहरणों को पढ़ सकते हैं।

उदाहरणार्थ:

माना की प्रमोद नामक व्यक्ति डॉलर की बढती हुई कीमतों का लाभ उठाना चाहता है चूँकि डॉलर आज 70 रूपये पर कारोबार कर रहा है। प्रमोद को अपनी जानकारी एवं अनुभव के आधार पर लगता है की यह तीन महीनों के अन्दर अन्दर 73 रूपये तक जा सकता हु ट्रेड्स फोरेक्स है। तो इस स्थिति में व्यक्ति USD खरीद सकता है और जब तीन महीने बाद यह 73 रूपये पर पहुँच जाए तो इन्हें बेच सकता है। इस प्रकार व्यक्ति प्रत्येक 1000$ पर 3000 रूपये तक की कमाई कर पाने में सफल होगा।

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग कैसे शुरू करें:

हालांकि भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग आम लोगों की पहुँच से दूर है इसके अनेकों कारण जैसे इस प्रक्रिया में अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए अधिक निवेश की आवश्यकता होती है। और दूसरा लोग अक्सर इस बारे में भी भ्रमित रहते हैं की भारत में इस तरह का काम करना कानूनी तौर पर सही है या फिर यह अवैध होता है। इसलिए यहाँ पर यह स्पष्ट कर देना जरुरी है की भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग को लेकर काफी नियम शर्तें निर्धारित की गई हैं।

इसलिए फॉरेक्स ट्रेडिंग नामक इस प्रक्रिया को सिर्फ वही व्यक्ति कर सकता है जिसके पास किसी SEBI Registered Broker का अकाउंट हो। कहने का आशय यह है की ऐसा कोई भी व्यक्ति जो फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग करना चाहता हो के पास किसी फ़ॉरेक्स ब्रोकर के साथ अकाउंट होना अति आवश्यक है।

वर्तमान में कानूनी रूप से फ़ॉरेक्स की अनुमति कुछ भारतीय एक्सचेंजों, बीएसई, एनएसई, एमसीएक्स-एसएक्स (मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज) इत्यादि को है। भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग करने के लिए व्यक्ति को किसी रजिस्टर्ड फ़ॉरेक्स ब्रोकर के साथ ही अकाउंट खोलने की आवश्यकता होती है। और इसी खाते के माध्यम से व्यक्ति फॉरेक्स ट्रेडिंग कर सकता है।

सफल फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए कुछ टिप्स :

यद्यपि जैसे की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की फॉरेक्स ट्रेडिंग भी इक्विटी ट्रेडिंग यानिकी शेयर मार्किट की तर्ज पर ही कार्य करती है। जहाँ शेयर मार्किट में शेयर का मूल्य नफा नुकसान तय करता है वही इसमें एक्सचेंज मूल्य। इसलिए यह जरुरी नहीं है की जो फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग करेगा वह लाभ ही प्राप्त करेगा हो सकता है उसे नुकसान भी हो। इसलिए यहाँ नीचे हम कुछ ऐसी बातों का जिक्र कर रहे हैं जिनका अनुसरण करके सफल फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग की जा सकती है।

  • फॉरेक्स ट्रेडिंग में निवेश करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें की आपको मार्किट की उचित जानकारी एवं पर्याप्त अनुभव प्राप्त है।
  • यद्यपि फ़ॉरेक्स मार्किट सप्ताह के पांच दिन चौबीस घंटे खुली रहती है लेकिन भारत का बाजार शाम 5 बजे बंद हो जाता है। इसलिए व्यक्ति को इंट्राडे का चुनाव करना चाहिए।
  • स्कैम इत्यादि से सावधान रहने की आवश्यकता है किसी रजिस्टर्ड फ़ॉरेक्स ब्रोकर के माध्यम से ही इस तरह की ट्रेडिंग करें।
  • प्रत्येक ट्रेड के लिए स्टॉप लॉस सेट करें अन्यथा विफल हो सकते हैं।
  • फॉरेक्स ट्रेडिंग करने से पहले ट्रेडिंग करने की योजना बना लें और हमेशा उसका अनुसरण करें।
  • ट्रेडिंग से हमेशा अपनी भावनाओं को अलग करके रखें क्योंकि भावनाओं में अक्सर मनुष्य अव्यवहारिक निर्णय ले लेता है।
  • ध्यान रहे अपने नुकसान की पूर्ति के लिए ट्रेड न करें बल्कि तभी ट्रेड करें जब आपको लगता है की यह आपके लिए एकदम सही है।

ट्रावेल फॉरेक्स कार्ड

एक कार्ड जो आपकी विदेश यात्रा के लिए फॉरेक्स प्रबंधित करने का सबसे सरल और कुशल तरीका प्रदान करता है। यह क्लब विस्तारा पॉइंट्स कमाने में मदद करता है जिसे अवार्ड फ्लाइट्स और अपग्रेड अवार्ड्स के लिए भुनाया जा सकता है।

एक कार्ड जो विदेश यात्रा को एक यादगार अनुभव बनाने के लिए सुविधाजनक, परेशानी मुक्त भुगतान प्रदान करता है।

वर्ल्ड ट्रैवलर फॉरेक्स कार्ड

माइल्स एंड मोर एक्सिस बैंक वर्ल्ड ट्रैवलर कार्ड पर पैसे लोड करने और खर्च करने पर आप माइल्स कमा सकते है।

चीन, कोरिया में सुरक्षित और सुविधाजनक भुगतान के लिए डायनर नेटवर्क पर प्रीपेड ट्रैवेल कार्ड प्राप्त करें

फॉरेक्स कार्ड के बारे में अधिक

फॉरेक्स कार्ड क्या है?

एक फॉरेक्स कार्ड आपकी विदेशी मुद्रा को संभालने का एक आसान और अधिक सुरक्षित विकल्प है। सामान्य बैंक (क्रेडिट / डेबिट) कार्ड की तरह, फॉरेक्स कार्ड का उपयोग लेनदेन करने और एटीऍम से नकदी निकालने के लिए किया जा सकता है, हालाँकि, इन राशियों को पहले से कार्ड पर लोड किया जाता है। कार्ड पर 16 विभिन्न मुद्राओं को लोड किया जा सकता है, जिससे आप विदेश यात्रा करते समय स्थानीय मुद्रा में भुगतान कर सकते हैं एवं एटीऍम से नकदी भी निकाल सकते हैं।

फॉरेक्स कार्ड के प्रकार क्या हैं?

एक्सिस बैंक अपने ग्राहकों को 4 प्रकार के फॉरेक्स कार्ड प्रदान करता है।

  • एक्सिस बैंक क्लब विस्तारा फॉरेक्स कार्ड
  • मल्टी-करेंसी फॉरेक्स कार्ड
  • वर्ल्ड ट्रैवलर फॉरेक्स कार्ड
  • डायनर्स कार्ड

हमारे साथ हु ट्रेड्स फोरेक्स जुडीये

कॉपीराइट © 2021 एक्सिस बैंक

Disclaimer

At your request, you are being redirected to a third party site. Please read and agree with the disclaimer before proceeding further.

This is to inform you that by clicking on the "Accept" button, you will be accessing a website operated by a third party namely . Such links are provided only for the convenience of the client and Axis Bank does not control or endorse such websites, and is not responsible for their contents. The use of such websites would be subject to the terms and conditions of usage as stipulated in such websites and would take precedence over the terms and conditions of usage of www.axisbank.com in case of conflict between them. Any actions taken or obligations created voluntarily by the person(s) accessing such web sites shall be directly between such person and the owner of such websites and Axis Bank shall not be responsible directly or indirectly for such action so taken. Thank you for visiting www.axisbank.com

फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए जरुरी टर्म्स

भारत में करेंसी ट्रेड से संबंधित कुछ विशिष्ट शब्द इस प्रकार हैं:

स्पॉट प्राइस और फ्यूचर्स प्राइस – स्पॉट प्राइस वह कीमत है जिस पर एक करेंसी पेयर वर्तमान में हु ट्रेड्स फोरेक्स मार्केट में ट्रेड कर रही है। फ्यूचर प्राइस वह मूल्य है जिस पर फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट मार्केट में ट्रेड करता है।

लॉट साइज – करेंसी ट्रेडिंग बहुत सारे पेयर्स में किया जाता है और विभिन्न पेयर्स के लिए लॉट साइज तय किया गया है। USD / INR, GBP / INR, EUR / INR के लिए, यह 1000 है और JPY / INR के लिए, यह 10000 है।

कॉन्ट्रैक्ट साइकल – एक महीने, दो महीने, तीन महीने से बारहवें महीने तक की करेंसी के फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट के लिए अलग-अलग एक्सपायरी साइकल हैं।

एक्सपायरी डेट – इसमें एक फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट की समाप्ति तिथि निर्दिष्ट है। यह कॉन्ट्रैक्ट महीने का अंतिम कार्य दिवस (शनिवार को छोड़कर) है। कॉन्ट्रैक्ट के ट्रेडिंग के लिए अंतिम दिन अंतिम सेटलमेंट की तारीख या मूल्य की तारीख से दो दिन पहले होगा।

काम की बात: लोगों को बरगला रहे अनधिकृत फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म, कमाई गंवा रहे निवेशक

रिजर्व बैंक ने विदेशी करेंसी में पैसा लगाने वाले निवेशकों को सतर्कता बरतने की सलाह दी है। खास तौर पर ऐसे अनधिकृत फॉरेन एक्सचेंज ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स के प्रति चेताया है, जो हाल के महीनों में बड़े पैमाने पर उभरे हैं और लोगों से ऊंचे रिटर्न का वादा कर रहे हैं।

आरबीआई ने एक बयान जारी करके कहा है कि हु ट्रेड्स फोरेक्स सोशल मीडिया प्लेटफॉम्स, सर्च इंजन्स, ओटीटी प्लेटफॉर्म्स और गेमिंग एप्स पर अनधिकृत ईटीपी के ढेर सारे भ्रामक विज्ञापन आ रहे हैं। अनधिकृत ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स लोगों को निजी तौर पर संपर्क कर उन्हें फॉरेक्स में ट्रेड कर मोटा मुनाफा कमाने का लालच दे रहे हैं। इसमें फ्रॉड की शिकायतें आ रही हैं, और इनमें निवेश करने वाले अपनी गाढ़ी कमाई गंवा रहे हैं।

रेटिंग: 4.78
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 399