पेनी स्टॉक में क्या आप भी पैसा लगाते रहते हैं, शेयर खरीदने से पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

 पेनी स्टॉक्स में उतना ही इन्वेस्ट करें जितना डूबने पर आप बर्दाश्त कर सकें, क्योंकि पेनी स्टॉक ज्यादा रिस्की होता है.

पेनी स्टॉक्स में उतना ही इन्वेस्ट करें जितना डूबने पर आप बर्दाश्त कर सकें, क्योंकि पेनी स्टॉक ज्यादा रिस्की होता है.

पेनी स्टॉक को बहुत सारे निवेशक कम समय में अमीर बनने का रास्ता भी समझते हैं. लेकिन ये रास्ता अक्सर कांटों भरा ही होता है . अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated : June 30, 2022, 22:59 IST

मुंबई . शेयर बाजार में निवेशकों के बीच अक्सर पेनी स्टॉक की चर्चा होती रहती है. बहुत सारे निवेशक मल्टीबैगर स्टॉक की तलाश में पेनी स्टॉक में पैसा लगाते रहते हैं. पेनी स्टॉक को बहुत सारे निवेशक कम समय में अमीर बनने का रास्ता भी समझते क्या पेनी स्टॉक में लगाना चाहिए पैसा हैं. लेकिन ये रास्ता अक्सर कांटों भरा ही होता है. ज्यादातर निवेशक पेनी स्टॉक के चक्कर में अपनी पूंजी गंवा बैठते हैं.

दरअसल पेनी स्टॉक वैसे शेयर होते हैं जिनकी कीमत कम होती या 10 रुपए से कम होती है. साथ ही कंपनी का मार्केट कम होता है. तमाम एक्सपर्टस 500 करोड़ के नीचे मार्केट कैप वालों को इसी कटगरी में रखते हैं. पेनी स्टॉक से जुड़ी कंपनियां छोटी होती हैं. इनके बारे में पता लगाना और जानकारियां इक्ट्ठा करना बहुत मुश्किल होता है. बिना किसी जानकारी ऐसे स्टॉक्स में इन्वेस्ट करना रिस्की होता है.

शेयर की कीमतों में मैनुपुलेशन
ऐसे सटॉक्स की लिक्वीडिटी भी कम होती है. यानी, बाजार में ट्रेडिंग के लिए उपलब्ध शेयर सीमित होते है. पेनी स्टॉक कंपनियों के कम बाजार पूंजीकरण और कम लिक्वीडिटी के कारण इसकी कीमत में हेरफेर आसान होता है.

ऑपरेटर इसमें खेल करते हैं
इंवेस्टर्स कई बार फर्जीवाड़े का शिकार हो जाते हैं. ऑपरेटर कम दाम में एक साथ ज्यादा शेयर खरीद लेते हैं जिसके चलते शेयर के दाम बढ़ने लगते हैं. शेयर के दाम बढ़ते देख रिटेल निवेशक इसमें एंट्री करते हैं. दाम ज्यादा बढ़ने के बाद ऑपरेटर शेयर बेच देते हैं. इससे शेयर के दाम गिरने लगते हैं. लोअर सर्किट के कारण इसमें फंसे रिटेल निवेशक शेयरों को बेच नहीं पाते.

रिसर्च जरूरी
किसी भी कंपनी के स्टॉक्स खरीदने से पहले उस कंपनी के बारे में अच्छे से रिसर्च करें. ये कंपनियां बहुत छोटी होती हैं. इनके बारे में जानकारियां अवेलेबल नहीं होती. कंपनी के फ्यूचर ग्रोथ, प्रोडक्ट, परफॉरमेंस और बैकग्राउंड को जानने के बाद ही स्टॉक्स खरीदें.

ज्यादा पैसा एक साथ न लगाएं
एक साथ ज्यादा रुपए इन्वेस्ट न करें. पेनी स्टॉक्स में उतना ही इन्वेस्ट करें जितना डूबने पर आप बर्दाश्त कर सकें, क्योंकि पेनी स्टॉक ज्यादा रिस्की होता है. पेनी स्टॉक्स के प्राइस स्टेबल नहीं होतें, इसलिए इन्वेस्ट करने से पहले मार्केट को जरूर समझें. मार्केट को समझने के लिए किसी एक्सपर्ट से बात कर सकते हैं.

मुनाफा मिले तो निकल लें
पेनी स्टॉक्स में ज्यादा दिनों के लिए इन्वेस्ट न करें. इनके शेयर का दाम तेजी से बढ़ता है, उतना ही तेजी से गिरता भी है. इसलिए शेयर खरीद कर भूल न जाएं, अच्छे रिटर्न मिलने पर शेयर बेच दें. आज इंटरनेट पर ज्ञान की कमीं नहीं है. किसी पर आंख बंद कर विश्वास न करें. जांचने और समझने के बाद ही इन्वेस्ट करें.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

क्या होते हैं भंगार शेयर? सिर्फ सस्ती कीमत देखकर ना खरीदें, जानिए Penny Stocks का गणित

क्या होते हैं भंगार शेयर? सिर्फ सस्ती कीमत देखकर ना खरीदें, जानिए Penny Stocks का गणित

पेनी स्टॉक्स में सिर्फ उनकी सस्ती कीमत देखकर ही पैसा नहीं लगाना चाहिए. कंपनी के बारे में अच्छे से जानकारी ले लेनी चाहिए. पेनी स्टॉक बहुत से लोगों के पैसे डुबाने के लिए बदनाम हैं.

शेयर बाजार (Share Market) में जब भी कोई नया-नया निवेश (Investment) करना शुरू करता है, तो उसे पेनी स्टॉक (Penny Stocks) बहुत आकर्षक लगते हैं. लगें भी क्यों नहीं, ये शेयर बहुत सस्ते होते हैं और नए निवेशकों को लगता है कि वह अधिक शेयर खरीद सकते हैं. पेनी स्टॉक को भंगार शेयर या चवन्नी शेयर भी कहा जाता है. ये शेयर लोगों को तगड़ा रिटर्न देने के लिए तो जाने ही जाते हैं, बहुत से लोगों को बर्बाद तक करने के लिए पेनी स्टॉक बदनाम हैं. आइए जानते हैं इसके बारे में सब कुछ और समझते हैं इनमें निवेश (Investment in Penny Stocks) करना चाहिए या नहीं.

जानिए क्या होते हैं पेनी स्टॉक्स?

पेनी स्टॉक्स वह शेयर होते है, जिनकी कीमत बहुत ही कम होती है. अमूमन 10 रुपये से कम के शेयर को पेनी स्टॉक कहा जाता है. बहुत कम कीमत होने की वजह से ही इन शेयरों को भंगार शेयर या चवन्नी शेयर कहा जाता है. हालांकि, इन शेयरों में लिक्विडिटी काफी कम होती है, क्योंकि कीमत कम होने की वजह से लोग कम पैसों में बहुत अधिक शेयर खरीद लेते हैं.

पेनी स्टॉक में पैसे लगाने चाहिए या नहीं?

वैसे तो बहुत से लोग पेनी स्टॉक में सिर्फ उसकी सस्ती कीमत देखकर ही पैसा लगा देते हैं. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो आपको ऐसा करने से नुकसान झेलना पड़ सकता है. पेनी स्टॉक में निवेश करना बहुत ही जोखिम का सौदा हो सकता है. पेनी स्टॉक्स में तगड़ा रिटर्न भी देखने को मिलता है, लेकिन इनमें ही तगड़ा नुकसान भी होता है. अगर आप किसी पेनी स्टॉक में निवेश करने की सोच रहे हैं तो आपको शेयर की कीमत या उसके रिटर्न को देखकर उसमें पैसे नहीं लगाने चाहिए. पेनी स्टॉक में पैसे लगाने से पहले कंपनी की अच्छे से फंडामेंटल एनालिसिस करें. पता करें कंपनी का बिजनस कैसा चल रहा है, उसका मैनेजमेंट कैसा है, उसके फ्यूचर प्लान क्या हैं, कंपनी पर कर्ज तो नहीं आदि. अगर सारी बातें सही हों तभी पेनी स्टॉक में पैसे लगाएं.

आसानी से ऑपरेट हो सकते हैं पेनी स्टॉक

पेनी स्टॉक में निवेश से पहले आपको ये समझना होगा कि किसी शेयर की कीमत क्यों बढ़ती है. जब किसी शेयर की मांग काफी बढ़ जाती है तो उसकी कीमत खुद-ब-खुद बढ़ने लगती है. पेनी स्टॉक्स की कीमत बहुत ही कम होने की वजह से कई बार इन्हें ऑपरेट करना आसान हो जाता है. बता दें कि हर्षद मेहता ने भी शुरुआत में पेनी स्टॉक्स को ऑपरेट कर के उनकी कीमत बढ़ाई थी और जब दाम अधिक हो गए तो उन्हें बेचकर मुनाफा कमा लिया. यानी अगर कंपनी के प्रमोटर्स ही शेयरों को भारी मात्रा में खरीदने लगें तो उनकी कीमत चढ़ने लगेगी. ऐसे में लोगों को लगेगा कि शेयर की वैल्यू बढ़ रही है, जबकि उसकी कीमत गलत तरीके से बढ़ाई जा रही होगी. ऐसी स्थिति में हमेशा रिटेल निवेशकों को नुकसान होता है. इसलिए पेनी स्टॉक में निवेश करते वक्त आपको अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत होती है.

ऐसे पेनी स्टॉक में कभी ना लगाएं पैसे

अगर किसी पेनी स्टॉक में बार-बार अपर या लोअर सर्किट लगता है तो उससे बचकर ही रहें. ऐसे शेयर आपको तगड़ा रिटर्न तो दिखा देंगे, लेकिन लगातार सर्किट लगने की वजह से आप इन शेयरों में बेच नहीं पाएंगे, जिससे नुकसान होगा. अगर आपने किसी पेनी स्टॉक में पैसे लगाए हैं तो आपने जो टारगेट सेट किया है, वह हासिल होते ही शेयर से बाहर निकल जाएं. अगर ज्यादा लालच करेंगे तो हो सकता है आपने जो पैसे लगाए हैं उस पर रिटर्न के बजाय नुकसान होना शुरू क्या पेनी स्टॉक में लगाना चाहिए पैसा हो जाए.

ये 3 तरह के लोग गलती से भी ना लगाएं म्यूचुअल फंड में पैसे, फायदा होना तो दूर की बात है, उल्टा पछताना पड़ेगा

Best Multibagger Penny Stocks 2022: इन पेनी स्टॉक्स ने दी शेयर बाजार को मात, बंपर रिटर्न से बने मल्टीबैगर

साल 2022 की शुरुआत से अब तक सेंसेक्स (BSE Sensex) और निफ्टी (NSE Nifty) जैसे प्रमुख सूचकांक 01 फीसदी से भी कम के फायदे में हैं. बीएसई पर मिडकैप (MidCap) और स्मॉलकैप (Small Cap) का भी कमोबेश यही हाल है. बाजार के बुरे हाल के बाद भी कुछ ऐसे स्टॉक हैं, जिन्होंने अपने इन्वेस्टर्स को मल्टीबैगर रिटर्न (Multibagger Return) दिया है.

5 मल्टीबैगर पेनी स्टॉक्स

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 22 अगस्त 2022,
  • (अपडेटेड 22 अगस्त 2022, 8:30 AM IST)

पिछले 3-4 सप्ताह के दौरान लौटी तेजी के बाद भी यह साल अब तक सेंसेक्स और निफ्टी के लिए ठीक साबित नहीं हुआ है. साल 2022 की शुरुआत से अब तक सेंसेक्स (BSE Sensex) और निफ्टी (NSE Nifty) जैसे प्रमुख सूचकांक 01 फीसदी से भी कम के फायदे में हैं. बीएसई पर मिडकैप (MidCap) और स्मॉलकैप (Small Cap) का भी कमोबेश यही हाल है. बाजार के बुरे हाल के बाद भी कुछ ऐसे स्टॉक हैं, जिन्होंने अपने इन्वेस्टर्स को मल्टीबैगर रिटर्न (Multibagger Return) दिया है. आज हम आपको ऐसे ही 5 स्मॉलकैप स्टॉक के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने इस साल अभी तक 500 फीसदी तक रिटर्न दिया है.

Sonal Adhesives: इस स्टॉक ने साल 2022 की शुरुआत भले ही पेनी स्टॉक के रूप में की, लेकिन अभी तक के आंकड़ों के अनुसार, यह इस साल सबसे शानदार रिटर्न देने वाले स्टॉक्स में से एक है. साल की शुरुआत में इस स्टॉक की वैल्यू महज 9.80 रुपये थी. अभी यह स्टॉक करीब 49.70 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. चंद दिनों पहले यह 67.75 रुपये का नया 52-वीक हाई बना चुका है. इसका 52-वीक लो लेवल 5.73 रुपये है. इस तरह इस स्मॉल कैप स्टॉक ने 2022 में अभी तक करीब 407 फीसदी का रिटर्न दिया है. अभी इस कंपनी का मार्केट कैप करीब 30 करोड़ रुपये है. 52-वीक हाई के हिसाब से देखें तो इस साल के दौरान एक समय यह स्टॉक अपने इन्वेस्टर्स को 591 फीसदी तक का रिटर्न दे चुका है.

VCU Data Management: स्मॉल कैप कैटेगरी के इस स्टॉक ने भी जबरदस्त रिटर्न दिया है. साल की शुरुआत इसने महज 10.46 रुपये से की और एक समय 65.20 रुपये पर पहुंच गया. इसका मतलब हुआ कि साल 2022 में यह स्मॉल कैप स्टॉक एक समय करीब 523 फीसदी का रिटर्न दे चुका है. इस तरह VCU Data Management का स्टॉक साल 2022 के मल्टीबैगर रिटर्न देने वालों की फेहरिस्त में शामिल हुआ. हालांकि बीते दिनों इसमें तेजी से गिरावट भी आई. फिलहाल इसके एक शेयर का भाव 26.15 रुपये है और इस हिसाब से भी 2022 के दौरान इसमें 150 फीसदी की तेजी आई है.

सम्बंधित ख़बरें

1 रुपये का शेयर हुआ 3000 के पार, बुलेट वाली कंपनी का बंपर रिटर्न
इन शेयर ने दिया धमाकेदार रिटर्न, 10 साल में 14 गुना पैसा, अभी भी Buy रेटिंग
कभी कौड़ियों में था इस शेयर का भाव, लाख रुपये लगाने वाले बने क्या पेनी स्टॉक में लगाना चाहिए पैसा करोड़पति
सालभर में डबल हुआ पैसा, Adani ग्रुप के इस शेयर से निवेशक 'Green'
एक से बढ़कर एक रॉकेट बनाती है कंपनी, एक साल से शेयर भी बना रॉकेट!

सम्बंधित ख़बरें

ABC Gas: एबीसी गैस के स्टॉक ने साल 2022 की शुरुआत 13 रुपये के लेवल से की. अभी इस शेयर की वैल्यू 90.45 रुपये पर पहुंच चुकी है. इस तरह एबीसी गैस स्टॉक साल 2022 के दौरान सबसे शानदार रिटर्न देने वाले स्टॉक्स की लिस्ट में ऊपर है. इसने अपने इन्वेस्टर्स को इस साल अब तक करीब 600 फीसदी का रिटर्न दिया है. हालांकि इसकी ट्रेडिंग वैल्यू काफी कम है. साल 2021 के आंकड़ों के अनुसार, इस कंपनी में महज 03 कर्मचारी काम कर रहे थे. ये आंकड़े इस स्टॉक को काफी क्या पेनी स्टॉक में लगाना चाहिए पैसा रिस्की बना देते हैं. एक हल्का ट्रिगर होने पर यह इन्वेस्टर्स के पूरे इन्वेस्टमेंट को स्वाहा कर सकता है.

Response Informatics: इस छोटी आईटी कंपनी का शेयर इस साल सिर्फ पेनी स्टॉक से मल्टीबैगर पेनी स्टॉक बनने वाली सूची में शामिल है. इसने साल की शुरुआत महज 12.96 रुपये से की और अभी 44.90 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. इस तरह साल 2022 में इस स्मॉल कैप स्टॉक ने अपने इन्वेस्टर्स को करीब 250 फीसदी का रिटर्न दिया है. अभी इसका मार्केट कैप करीब 35 करोड़ रुपये है. इसका 52 सप्ताह का हाई लेवल 58.70 रुपये है, जबकि 52 सप्ताह का लो लेवल 8.39 रुपये है.

Dhruva Capital: भारतीय शेयर बाजार में साल 2022 में जो पेनी स्टॉक अपने इन्वेस्टर्स को शानदार रिटर्न देकर मल्टीबैगर पेनी स्टॉक बनने में कामयाब हुए हैं, उनकी सूची में Dhruva Capital का स्टॉक भी शामिल है. इसने साल की शुरुआत महज 4.54 रुपये से की और फिलहाल 18.60 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. इस तरह साल 2022 के दौरान इस पेनी स्टॉक ने 310 फीसदी का जबरदस्त रिटर्न दिया है. इसका 52-वीक हाई 30.70 रुपये और 52-वीक लो 3.50 रुपये है.

Disclaimer: शेयर बाजार में पैसे लगाना रिस्की होता है. इसमें रिटर्न मिलने की कोई गारंटी नहीं होती है. ऊपर बताए गए स्टॉक्स सिर्फ जानकारी प्रदान करने के लिए हैं. इन्हें निवेश के लिए सुझाव नहीं समझा जाना चाहिए. स्टॉक मार्केट में पैसे लगाने से पहले आप खुद से रिसर्च जरूर करें या अपने पर्सनल फाइनेंस एडवाइजर की सलाह लें. खासकर पेनी स्टॉक्स में पैसे लगाने से पहले अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत होती है.

Multibagger Penny Stock: दो लाख लगाने वाले बने करोड़पति, साढ़े पांच साल में 54 गुना चढ़ा ये पेनी स्टॉक

Best Multibagger Penny Stock 2022: पेनी स्टॉक्स में इन्वेस्टमेंट काफी जोखिम भरा होता है. ऐसे स्टॉक्स कीमतों पर ट्रेडिंग वॉल्यूम में थोड़े से बदलाव का बड़ा असर पड़ता है. इस कारण इनके दाम को आसानी से प्रभावित किया जा सकता है. शेयर बाजार में पैसे लगाने से पहले और खासकर पेनी स्टॉक्स में इन्वेस्टमेंट करने से पहले अच्छे से कंपनी की पड़ताल जरूरी है.

कई गुना हो गया इन्वेस्टमेंट

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 31 अगस्त 2022,
  • (अपडेटेड 31 अगस्त 2022, 10:05 AM IST)

करीब एक साल से दुनिया भर के शेयर बाजार (Share Market) प्रेशर में हैं. पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में पीक पर पहुंचने के बाद बाजार को अभी तक कई झटकों का सामना करना पड़ा है. रूस-यूक्रेन जंग (Russia Ukraine War), दशकों की सबसे ज्यादा महंगाई (Decade High Inflation), लगातार बढ़ते ब्याज दर (Rising Interest Rates), आर्थिक मंदी का खतरा (Global Recession Fears), चीन-ताइवान संकट (China Taiwan Crisis) आदि ने बाजार को प्रभावित किया है. हालांकि इसके बाद भी कई स्टॉक्स ने अपने इन्वेस्टर्स को जबरदस्त रिटर्न दिया है. सिंधु ट्रेड लिंक्स (Sindhu Trade Links Limited) भी एक ऐसा ही स्टॉक है, जिसने पिछले एक साल के दौरान अपने इन्वेस्टर्स के पैसे को कई गुना बना दिया है.

एक साल में ऐसा रहा परफॉर्मेंस

साल भर पहले इस स्टॉक का भाव बेहद कम था. पिछले साल 30 अगस्त को इसका एक शेयर महज 3.8 रुपये में मिल रहा था. अभी इसका भाव उछलकर 30.30 रुपये पर पहुंच चुका है. इसका मतलब हुआ कि पिछले एक साल में इस स्टॉक में 697 फीसदी की तेजी आई है. इस दौरान सिंधु ट्रेड लिंक्स का शेयर करीब 08 गुना चढ़ा है. यानी अगर कोई इन्वेस्टर इसमें साल भर पहले 12-13 लाख रुपये लगाता और होल्ड करता तो अभी उसके इन्वेस्टमेंट की वैल्यू 01 करोड़ रुपये के पार निकल गई होती. वहीं सेंसेक्स को देखें तो यह प्रमुख सूचकांक इस अवधि में महज 2.74 फीसदी ऊपर गया है.

सम्बंधित ख़बरें

ढाई साल में 600% उछला Tata का ये स्टॉक, 7 गुना हुआ निवेश
इस स्टॉक ने साल भर में डबल किया पैसा, Damani ने भी किया है निवेश
इन 5 पेनी स्टॉक्स ने दी शेयर बाजार को मात, बंपर रिटर्न से बने मल्टीबैगर
1 रुपये का शेयर हुआ 3000 के पार, बुलेट वाली कंपनी का बंपर रिटर्न
11 रुपये वाला शेयर 86000 के पार, जानिए MRF क्यों है भारत का सबसे महंगा स्टॉक!

सम्बंधित ख़बरें

तीन साल में 834 फीसदी की छलांग

आज बुधवार को घरेलू बाजार में गणेश चतुर्थी के उपलक्ष्य में कारोबार बंद है. इससे पहले मंगलवार को बीएसई पर यह स्टॉक मजबूती के साथ 30.30 रुपये पर बंद हुआ. हालांकि बीते 05 दिनों के दौरान इसके भाव में 9.51 फीसदी की गिरावट आई है. मंगलवार को बीएसई पर इसके 9,753 शेयरों की ट्रेडिंग हुई, जिससे 2.90 लाख रुपये का टर्नओवर जेनरेट हुआ. फिलहाल सिंधु ट्रेड लिंक्स का मार्केट कैप बीएसई पर 4,672 करोड़ रुपये है. इस साल की बात करें तो सिंधु ट्रेड लिंक्स का स्टॉक 22 फीसदी के फायदे में है, जबकि बीते तीन साल के दौरान इसके भाव में 834 फीसदी की तेजी आई है. यह स्टॉक फरवरी 2017 में बाजार में लिस्ट हुआ था. तब इसका भाव महज 56 पैसे था. इसका मतलब हुआ कि इसने शेयर बाजार में अब तक 54 गुना से ज्यादा की छलांग लगाई है. अगर कोई इन्वेस्टर साढ़े पांच साल पहले इसमें महज 02 लाख रुपये लगाता तो आज उसकी गिनती करोड़पतियों में होती.

सर्विलांस में रखा गया है स्टॉक

आपको बता दें कि फिलहाल इस स्टॉक को सर्विलांस में रखा गया है. इसका कारण कीमतों में असामान्य घट-बढ़, वोलेटाइल ट्रेड और वॉल्यूम वैरिएशन है. इसका शेयरहोल्डिंग पैटर्न देखें तो जून तिमाही के अंत के हिसाब से कंपनी में 02 लाख रुपये तक की पूंजी वाले 14,576 पब्लिक शेयर होल्डर्स के पास 1.54 करोड़ शेयर हैं. 34 प्रमोटर्स के पास कंपनी के 115.59 करोड़ शेयर यानी 74.97 फीसदी हिस्सेदारी है. वहीं 02 लाख रुपये से ज्यादा पूंजी वाले 87 पब्लिक शेयरहोल्डर्स के पास इस कंपनी के 20.67 करोड़ शेयर यानी 13.41 फीसदी हिस्सेदारी है.

ऐसे हैं कंपनी के फंडामेंटल्स

कंपनी को जून 2022 तिमाही में 5.45 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ, जो साल भर पहले की तुलना में 126 फीसदी ज्यादा है. हालांकि मार्च 2022 तिमाही में कंपनी को 20.75 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. जून तिमाही के दौरान कंपनी की बिक्री 12 फीसदी बढ़कर 245.50 करोड़ रुपये रही. साल भर पहले यानी जून 2022 तिमाही में कंपनी की बिक्री 219.33 करोड़ रुपये रही थी. यह कंपनी ट्रांसपोर्टेशन, लोडिंग, माइनिंग जैसे सेक्टर्स में काम करती है. इसके अलावा कंपनी कल-पुर्जों, ईंधन और हाई-स्पीड डीजल का भी कारोबार करती है. कंपनी की सब्सिडियरीज में हरि भूमि कम्यूनिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड (Hari Bhoomi Communications Private Limited), इंडस ऑटोमोबाइल्स प्राइवेट लिमिटेड (Indus Automotives Private Limited), सुधा बायो प्राइवेट लिमिटेड (Sudha Bio Power Private Limited) और परम मित्र रिसॉर्सेज (Param Mitra Resources) शामिल हैं.

Disclaimer: शेयर बाजार में पैसे लगाना रिस्की होता है. इसमें रिटर्न मिलने की कोई गारंटी नहीं होती है. ऊपर बताया गया उदाहरण सिर्फ जानकारी प्रदान करने के लिए हैं. इन्हें निवेश के लिए सुझाव नहीं समझा जाना चाहिए. स्टॉक मार्केट में पैसे लगाने से पहले आप खुद से रिसर्च जरूर करें या अपने पर्सनल फाइनेंस एडवाइजर की सलाह लें. खासकर पेनी स्टॉक्स में पैसे लगाने से पहले अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत होती है.

क्या पेनी स्टॉक में लगाना चाहिए पैसा

Investments in securities are subject to market risks. Read all the documents or product details carefully before investing. WealthDesk Platform facilitates offering of WealthBaskets by SEBI registered entities, termed as "WealthBasket Managers" on this platform. Investments in WealthBaskets are subject to the Terms of Service.

WealthDesk is a platform that lets you invest in systematic, modern investment products called WealthBasket.

WealthDesk Unit No. 001, Ground Floor, Boston House, Suren Road, Off. Andheri-Kurla Road, Andheri (East), Mumbai, Mumbai City, Maharashtra- 400093

© 2022 Wealth Technology & Services Private Limited. CIN: U74999MH2016PTC281896

रेटिंग: 4.86
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 499