by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Saturday, 10 December, 2022

eKarma Yojana Haryana 2021 – ईकर्मा योजना ऑनलाइन आवेदन

सभी युवा भाईयों को ध्‍यान में रखते हुए सरकार ने इस योजना की शुरूआत की हैं। वैंसे तो सरकार सभी के लिए उनकी योग्‍यता अनुसार योजनाए चलाती हैं। लेकिन इस योजना के तहत केवल युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। केन्‍द्र सरकार भी अनेेक योजनाओं के माध्‍यम से युवाओं को आगे बढने व उन्‍हें रोजगार उपलब्‍ध कराने के लिए अनेक योजनाओं का सहारा लेती हैं। ऐसे ही सभी राज्‍यों की सरकार भी अपने – अपने राज्‍य के युवाओं के लिए योजनाओ की शुरूआत करती हैं। हरियाणा सरकार ने भी अपने राज्‍य के युवाओं को प्रशिक्षण देने के लिए ए‍क योजना की शुरूआत की हैं। जिसका नाम हैं ”eKarma Yojana” (ईकर्मा योजना)। इसके तहत उन्‍हें प्रशिक्षण प्रदान कर स्‍थायी रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएगे।

ई कर्मा योजना क्‍या हैं व इसके तहत लाभार्थी को लाभ कैंसे मिलेगा ये सब हम आपको इस आर्टिकल में बताएगे इसके लिए आप नीचें तक देंखे।

ईकर्मा योजना

इस योजना की शुरूआत हरियाणा सरकार ने राज्‍य के युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए की हैं। इसके तहत युवाओं में स्‍वरोजगार को बढाना देने के लिए उच्‍च शिक्षा विभाग, हरियाणा ने ऐपवर्क्‍स आईटी सॉल्‍यूशंस प्रा. लिमिटेड। सरकारी कॉलेजो में उत्‍कृष्‍टता के 5 केन्‍द्र स्‍थापित किए हैं। जिसमें फ्रीलांसिग मोबाइल से फ्रीलांसिग कैसे करें? प्‍लेटफॉर्म पर हरियाणा के बेरोजगार ग्रेजुएट व पोस्‍ट ग्रेजूएट युवाओं को शिक्षित किया जाएगा। जिससे बरोजगारो को रोजगार मिलेगा और बेरोजगारी को कम किया जा सकेगा। योजना के तहत लाभार्थी को 6 महीने का फ्री प्रशिक्षण दिया जाएगा।

eKarma Yojana Haryana 2020

ताकि वो अपना स्‍वयं का स्‍थायी रोजगार प्राप्‍त कर सके।

eKarma Yojana Haryana 2021 का उद्देंश्‍य

  • इस योजना का मुख्‍य उद्देंश्‍य बेराजगार युवाओं को रोजगार प्रदान करना हैं।
  • ईकर्मा का उद्देंश्‍य फ्रीलांसिग प्‍लेटफॉर्म पर हरियाणा के बेरोजगार ग्रेजूएट व पोस्‍ट ग्रेजूएट युवाओं को शिक्षित करना।
  • रोजगार के लिए पहले आवेदक को प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • य‍ह प्रशिक्षण लाभार्थी को 6 महीने के लिए फ्री दिया जाएगा।
  • जिससे वो अपना स्‍वयं का रोजगार अर्जित कर सके।
  • युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेगे।
  • जिससे राज्‍य में बेरोजगारी को कम किया जा सकेगा।
  • स्‍वरोजगार को प्रोत्‍साहित करके बेरोजगारी की दर को कम करना।

ईकर्मा योजना का लाभ

  • युवा छात्रो को फ्रीलांशिग से संबंधित प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • जिससे युवा आत्‍मनिर्भर बनेगे व अपनी स्‍वयं की आय अर्जित करेगे।
  • बेरोजगारी की दर को कम किया जा सकेगा।
  • इस योजना के तहत फ्रीलासिंग पोर्टल पर ऑनलाइन बिडिग व ऑर्डर लेना सिखाया जाएगा।
  • इसमें लाभार्थी को 4 से 6 महीने का प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • योजना में पहले लडकियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

जरूरी दस्‍तावेंज व पात्रता

  • आवेदनकर्ता हरियाणा का मूलनिवासी होना चाहिए।
  • आवेदन के लि6ए आपकी उम्र कम से कम 18 से 30 वर्ष होनी चाहिए।
  • आवेदनकर्ता को किसी कॉलेज में पंजीकृत होना जरूरी हैं।
  • इसके लिए आधार कार्ड होना चाहिए।
  • आयु प्रमाण पत्र
  • मूलनिवास प्रमाण पत्र
  • शैंक्षिक प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर

eKarma Yojana Haryana 2021 Online Apply

जो भी युवा बेरोजगार इस योजना का लाभ लेना चाहता हैं वो इस योजना के लिए आवेदन कर सकता हैं। इसका आवेदन करने के लिए आपको विभाग की अधिकारिक साइट पर जाना होगा।

  • अधिकारिक साइट पर जाने के लिए आप यहा क्लिक करे।
  • यहा क्लिक करते ही आप योजना की अधिकारिक साइट पर पहुँच जाएगे।
  • इसमें आपको Join EKarma पर क्लिक करना हैं।
  • इस पर क्लिक करते ही आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • जिसमें आपको आपसे पूछी गई सभी जानकारी भरनी हैं।
  • जानकारी में जैंसे आपका नाम, मोबाइल नंबर,ईमेल आइडी, पति या पिता का नाम,माता का नाम व अन्‍य जानकारी भरनी हैं।
  • ये सब भरने के बाद आपको Submitके बटन पर क्लिक करना हैं।

इस प्रकार आपका आवेदन फॉर्म पूरा हो जाएगा।

ईकर्मा पोर्टल पर लॉगिन ऐसे करे

आपको सबसे पहले ई कर्मा योजना की अधिकारिक साइट पर जाना होगा। साइट के होमपेंज पर आपको Login के Option पर क्लिक करना होगा। अब आपके सामने फिर से एक और पेंज खुलेंगा। जिसमें आपको अपना युजर नेम व पासवर्ड दर्ज करना होगा। ये दर्ज करने के बादआपको Login के बटन पर क्लिक करना हैं।

एसआरएम आईएसटी एनसीआर कैंपस में अभियंता दिवस धूमधाम से मनाया गया

UP News

Modinagar एसआरएम आईएसटी एनसीआर कैंपस में अभियंता दिवस धूमधाम से मनाया गया। जिसमें कई नामचीन हस्तियों ने शिरक्त की।
संस्था के प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि राज्यमंत्री सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार भानु प्रताप सिंह वर्मा, आईआरपीएस अतुल कुमार मिश्रा, एसआरएम आईएसटी एनसीआर कैंपस के निदेशक डॉ0 एस विश्वनाथन, डीन डॉ0 डीके शर्मा, डीन एडमिशन डॉ0 आरपी महापात्रा, कार्यक्रम के संयोजक डॉ0 नवीन अहलावत, डीन मैनेजमेंट डॉ0 एनएम मिश्रा ने संयुक्त रूप से मां सरस्वती वंदना के साथ किया। मुख्य अतिथि भानु प्रताप सिंह वर्मा ने कहा कि देश आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नए आयामों को छू रहा है। उन्होंने अपने विभाग की विभिन्न योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी और सभी को उन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए कहा। विश्वविद्यालय के भूतपूर्व विद्यार्थी सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर, अकाशा आईएनसी साउथ सेन फ्रांसिस्को शशांक ने उभरती और विकसित हो रही कंप्यूटिंग प्रौद्योगिकी में वैश्विक कैरियर की तैयारी कैसे करें नामक विषय पर अपने विचार रखें। डीन डॉ0 डीके शर्मा ने अपने उद्बोधन मे इंजीनियरिंग की ब्रांचेस आपस में कैसे एक-दूसरे से जुड़ी हुई है और इंजीनियरिंग के महत्व के बारे में बताया। इस दौरान विभिन्न कंपनियों में प्लेसड हुए विद्यार्थियों को मुख्य अतिथि भानु प्रताप सिंह वर्मा द्वारा प्रस्ताव पत्र प्रदान किये गये। इसके बाद एसआरएम के सीडब्ल्यूडी क्लब का उद्घाटन किया गया। जिसके अंदर कोडिंग, फ्रीलांसिग, टेक्निकल सुविधाये उपलब्ध है। इसके पश्चात डिकोडिंग द पाथ टू इंडस्ट्री नामक विषय पर पैनल डिस्कशन हुआ। जिसमें एसआरएम के भूतपूर्व विद्यार्थी शशांक, दिव्यांशु जिंदल, श्रेया श्रीवास्तव, हार्दिक सिंगल, आकांक्षा श्रीवास्तव ने दल के सदस्य के रूप में भाग लिया। इस दौरान डॉ0 धौम्या भट्ट, डॉ0 रंजना दुबे, पल्लवी जैन, डॉ0 गरिमा पांडे, डॉ0 रीना ग्रोवर, डॉ0 नितिन धामा व चंद्रशेखर त्यागी आदि उपस्थित रहें ।

अगर वीडियोग्राफी का है शौक तो आयें इस फील्ड में और कमायें लाखों

Shivakant Shukla

लखनऊ: इ्ंटरमीडिएट के बाद छात्र आगे की पढ़ाई करने के लिए किस क्षेत्र को चुनें इसका निर्णय लेने में कठिनाई महसूस करते हैं। जबकि सबको यह पता है कि इसके बाद से ही व्यक्ति के करियर की शुरूआत होती है। कम पैसे लगाकर और अच्छे स्किल को विकसित करके भी छात्र अपना करियर बेहतर बना सकते हैं। आज newstrack.com आपको वीडियोग्राफी में अपने करियर का निर्माण कैसे करें इस बारे में जानकारी देने जा रहा है।

वीडियोग्राफी का है शौक तो आयें इस फील्ड में

अगर आपको फोटोग्राफी या वीडियोग्राफी का शौक है और बेहतर तरीके से कैमरा संभाल लेते हैं, साथ में क्रिएटिव सोच के भी हैं तो इस फील्ड में अपना करियर बना सकते हैं। वीडियोग्राफी आपके लिए एक बेहतरीन स्वरोजगार साबित हो सकती है। पहले जहां सिर्फ सिनेमा और मीडिया के छात्र में ही लोगों का ​करियर प्रभावी रूप से बना पाता था वह अब नहीं है। इस समय कोई भी शॉर्ट फिल्में बनाकर इस क्षेत्र में बेहतरीन भविष्य बना सकते हैं।

वीडियो प्रोडक्शन का कोर्स कईं लेवल का होता है, बेसिक स्किल से लेकर मास्टर डिग्री लेवल तक। इस कोर्स में विद्यार्थियों को डिजिटल मीडिया के इस्तेमाल के द्वारा स्टोरी को डिजाइन करना और उसका निर्माण करना सिखाया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद करियर के कईं विकल्प खुल जाते हैं, जिनमें फिल्म एडिटिंग, मैनेजिंग प्रोडक्शन, रिकाडिंग आडियों और वीडियो प्रोडक्शन सम्मिलित हैं।

कैसे शुरू करें अपना काम:

अगर आप वीडियो प्रोडक्शन का कोर्स करने के पश्चात् अपना स्वयं का काम शुरू करना चाहते हैं तो कम पूंजी में बिना बडे सेटअप के शुरू कर सकते हैं। इसके लिए आपको डिजीटल वीडियो कैमरा, कम्प्युटर या लैपटाप (जिनमें एडीटिंग करने के लिए कुछ प्रीमियम साफ्टवेयर इंस्टाल हों) की जरूरत होती है। अगर आप बड़ी मशीन एफसीपी खरीद सकते हैं तो आपके लिए संपादन आसान और बहतरीन होगा।

इन क्षेत्रों में हैं रोजगार के अवसर:

वीडियोग्राफी सीखने के बाद कईं कार्य कर सकते हैं। शादियां और प्री-वेडिंग वीडियो में तो इसकी जरूरत होती ही है। कोई दफ्तर नहीं है जहां इसकी मांग नहीं है। सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में वीडियोग्राफी काफी मांग है। इस क्षेत्र में स्व-रोजगार के भी काफी अवसर हैं। आप फ्रीलांसर के रूप में भी काम कर सकते हैं। साइबर जर्नलिज्म ने इसकी मांग और बढ़ा दी है। विभिन्न चौनल्स के लिए फ्रीलांसिग कर सकते हैं। इनके लिए आप स्टिंग आपरेशन भी कर सकते हैं।

अगर आपमें सृजनात्मक कौशल है तो आप डाक्युमेंटरी मेकिंग की राह चुन सकते हैं। एक अच्छे डाक्युमेंटरी फिल्म मेकर बनने के लिए आपको वीडियोग्राफी और कंटेंट की अच्छी समझ होना चाहिए। डाक्युमेंटरी मेकिंग में सृजनात्मक संतुष्टि के साथ करियर की अपार संभावनाएं भी हैं। फिल्ममेकिंग, विज्ञापनों और टीवी धारावाहिकों में तो वीडियोग्राफरों के लिए पहले से ही काफी अवसर उपलब्ध हैं।

पीएसएम (पब्लिक सर्विस मैसेज) का क्षेत्र लगातार विकसित रहा है जिससे वीडियोग्राफरों को अपनी प्रतिभा दिखाने और अच्छी कमाई के अवसर उपलब्ध हो रहे हैं। एडिटिंग वीडियोग्राफी का एक बहुत महत्वपूर्ण और अभिन्न भाग है। अगर वीडियोग्राफी से अधिक आपको मोबाइल से फ्रीलांसिग कैसे करें? वीडियो एडिटिंग में रूचि है तो भी आपके लिए अवसरों की कमी नही है।

कितनी कमाई कर सकते हैं:

शुरूआत में आप 10,000 से 12,000 तक कमा सकते हैं। एक-दो वर्ष पश्चात् जब आपको वीडियोग्राफी और मार्केट का अच्छा अनुभव हो जाए तब आप प्रतिमाह 30,000 या उससे भी अधिक कमा सकते हैं। यूट्यूब ने इस क्षेत्र में क्रांति ला मोबाइल से फ्रीलांसिग कैसे करें? दी है। जब इसपर आप कोई वीडियो अपलोड करते हैं तब हिट होने पर विज्ञापन मिलने लगते हैं। इन विज्ञापनों से होने वाली कमाई का 60 प्रतिशत यू ट्यूब लेता है और जिसका वीडियो होता है उसे 40 प्रतिशत देता है। यहां भी आप नियमित रूप से वीडियो अपलोड करके अच्छी कमाई कर सकते हैं।

शार्ट फिल्में बनाकर कमा सकते हैं अच्छा पैसा

शॉर्ट फिल्मों को देखने वाले लोग बहुत हैं। भले ही शुरुआत में आपको थोड़ा कम पैसा मिलेगा। लेकिन अगर आप अपनी शॉर्ट फिल्म को डेली मोशन, वीडियो ऑन डिमांड जैसी वेबसाइट्स पर अपलोड करेंगे तो अच्छा पैसा कमा सकते हैं। इसके अलावा यूट्यूब पर भी शॉर्ट फिल्मों के जरिए अच्छा पैसा कमाया जा रहा है।

आप यूट्यूब पर अपनी फ़िल्म अपलोड करते ही पैसा कमा सकते हैं और इसके लिए आपको बस अपना एक यूट्यूब चैनल बना कर यूट्यूब पर पहले से मौजूद ‘मोनेटाइज़’ का ऑप्शन सिलेक्ट करना होगा और आपकी फिल्म में विज्ञापन आना शुरू हो जाएंगे।

अध्ययन के संस्थान

वीडियो एडिटिंग का कोर्स करने के लिए कुछ अच्छे संस्थान हैं, जो कि निम्नलिखित हैं—

1. फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया पुणे

2. सत्यजीत रे फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट कोलकाता

3. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया बैंगलोर

new tax rule: नौकरी के साथ साइड इनकम वालों को झटका, जान लीजिए अब कितना देना होगा टैक्स

जब आप फ्रीलांसिंग काम से पैसा कमाते हैं, तो ये गलती कभी ना करें कि अपनी पूरी कमाई को इनकम के तौर पर दिखा दें. फ्रीलांसिंग से कमाई करने वाले लोग भी अपनी इनकम का एक हिस्सा खर्च के तौर पर दिखा सकते हैं. इसमें डेटा चार्जेस, इलेक्ट्रिसिटी बिल, सॉफ्टवेयर वगैरह के सब्सक्रिप्शन चार्ज को शामिल किया जा सकता है. आइये जानते है इसके बारे में.

new tax rule: नौकरी के साथ साइड इनकम वालों को झटका, जान लीजिए अब कितना देना होगा टैक्स

HR Breaking News (ब्यूरो) : इन दिनों जॉब मार्केट में Moonlight पॉलिसी के बहुत चर्चे हैं. एक साथ दो नौकरी करने को लेकर कई कंपनियां जहां इसे लेकर नरम रुख रही हैं, तो कई कंपनियों ने खुलकर इसका विरोध किया है. हालांकि यहां हम बात करेंगे कि अगर आप मूनलाइट पॉलिसी के तहत दूसरी जॉब (Moonlighting) करते हैं, तो क्या आपको एक्स्ट्रा इनकम टैक्स देना होगा.


क्या है मूनलाइटिंग?


वैसे मूनलाइट पॉलिसी का जिक्र सबसे ज्यादा नई पीढ़ी की टेक कंपनियों (New Age Tech Companies or StartUp) और आईटी कंपनियों केएम्प्लॉइज के बीच हो रहा है. कई सॉफ्टवेयर प्रोफेशनल जहां इस ट्रेंड को एक नए अवसर की तरह देख रहे हैं, तो कई को ढेर सारी चिंताएं भी हैं. सामान्य भाषा में समझें तो मूनलाइटिंग का मतलब है कि कहीं पर पहले से नौकरी करते हुए एक साइड इनकम या दूसरी इनकम करना.


बात साइड इनकम पर टैक्स की


अब हम बात करते हैं मूनलाइटिंग से होने वाली साइड इनकम पर टैक्स की. अगर आप सैलरीड एम्प्लॉई हैं, तब आपको Income Tax Return का फॉर्म ITR-1 भरना होता है. जबकि अगर आपकी इनकम फ्रीलांसिंग काम से होती है, तब आपको ITR-4 फॉर्म भरना होता है, क्योंकि इस इनकम को Income from Profession माना जाता है.


कौन से खर्चों पर बचा सकते हैं टैक्स


जब आप फ्रीलांसिंग काम से पैसा कमाते हैं, तो ये गलती कभी ना करें कि अपनी पूरी कमाई को इनकम के तौर पर दिखा दें. फ्रीलांसिंग से कमाई करने वाले लोग भी अपनी इनकम का एक हिस्सा खर्च के तौर पर दिखा सकते हैं. ऐसे खर्च जिसकी आपको फ्रीलांसिंग काम करने के लिए जरूरत पड़ी हो. हालांकि इसके लिए आपकी टोटल फ्रीलांसिंग इनकम 50 लाख रुपये से ज्यादा नहीं होनी चाहिए.


इसमें डेटा चार्जेस, इलेक्ट्रिसिटी के उपयोग का उपयुक्त खर्च, सॉफ्टवेयर और अन्य टूल्स के सब्सक्रिप्शन चार्ज इत्यादि को शामिल किया जा सकता है. एक व्यक्ति अपनी कुल फ्रीलांसिग इनकम के 50% तक के बराबर आय को कर योग्य आय (Taxable Income) दिखाने का क्लेम कर सकता है.


उदाहरण के लिए समझें, अगर आपकी फ्रीलांसिंग आय 16 लाख रुपये है, तो आप अपनी टैक्सेबल इनकम 8 लाख रुपये दिखा सकते हैं. ऐसे में अगर आपकी सैलरी से इनकम 20 लाख रुपये है तो आपकी टोटल इनकम 28 लाख रुपये होगी.


मूनलाइटिंग पर कितना लगेगा टैक्स?


बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक अगर आप अपनी सैलरी वाली नौकरी के साथ-साथ मूनलाइटिंग भी कर रहे हैं, तो आपको अपनी दूसरी जॉब यानी कि फ्रीलांस इनकम को हर तिमाही के आधार पर कैलकुलेट करना चाहिए. TDS का क्रेडिट चुकाने के बाद अगर टैक्स स्लैब के हिसाब से आपकी कोई लायबिलिटी बनती है, तभी आपको एक्स्ट्रा इनकम टैक्स भरना होगा, ऐसा नहीं होने पर कोई टैक्स नहीं देना होगा.


एक और बात, अगर ऊपर वाले उदाहरण की तरह आपकी कुल इनकम 28 लाख रुपये है, तो आपको इनकम टैक्स लॉ के हिसाब से 80C और 80D के तहत मिलने वाली छूट का भी लाभ मिलेगा.

Zee न्यूज पर अब नहीं दिखाई देंगे एंकर अमन चोपड़ा, यहां शुरू की नई पारी

समाचार4मीडिया ब्यूरो

by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Tuesday, 21 September, 2021

AmanChopra5485

जी न्यूज के जाने-माने सीनियर न्यूज एंकर अमन चोपड़ा अब चैनल पर नहीं दिखाई देंगे। दरअसल ऐसा इसलिए क्योंकि उन्होंने चैनल को अलविदा कह दिया है और इस बात की पुष्टि उन्होंने खुद समाचार4मीडिया से की।

20 सितंबर यहां उनका आखिरी दिन था। वे यहां करीब चार वर्षों से कार्यरत थे। अमन जल्द ही अब अपनी नई पारी ‘न्यूज18 इंडिया’ के साथ शुरू करेंगे और अगले हफ्त से वे टीवी स्क्रीन पर नजर भी आने लगेंगे। जी न्यूज में वे लोकप्रिय शो ‘ताल ठोक के’ को होस्ट करते थे।

जी न्यूज से पहले अमन एबीपी न्यूज के साथ थे और तब यहां उन्होंने पिछले पांच वर्षों तक अपना योगदान दिया था। अपने 5 साल के कार्यकाल के दौरान ‘एबीपी न्यूज’ में उन्होंने हर तरह के बुलेटिन किए, जिनमें शाम 7 बजे पॉलिटिकल डिबेट, ‘आज की तारीख’, ‘घंटी बजाओ’, ‘कौन बनेगा मुख्यमंत्री’ शो आदि शामिल हैं। चुनावों के दौरान उन्होंने दो महीने तक ‘रथ यात्रा’ शो को भी होस्ट किया है।

प्रिंट, पीआर एजेंसी और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के क्षेत्र में उन्हें करीब 20 वर्षों से भी ज्यादा का अनुभव है। अपने करियर की शुरुआत उन्होंने प्रिंट मीडिया से की थी, इसके बाद वे पीआर एजेंसीज से जुड़े और फिर उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की ओर रुख किया।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में पहले वे ‘आईबीएन7’ (अब न्यूज18 इंडिया), फिर ‘सीएनईबी’ (4साल) और उसके बाद ‘राज्यसभा टीवी’ (4साल) होते हुए वे ‘एबीपी न्यूज’ (5 साल) से जुड़े थे। कुछ समय तक वे ‘न्यूज एक्सप्रेस’ के साथ भी रहे।

राजनीतिक खबरों पर अमन अच्छी पकड़ रखते हैं। वे दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म व मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हैं। पब्लिक रिलेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन का डिप्लोमा लेने के बाद उन्होंने मास कम्युनिकेशन में एमए भी किया।

वे जितने अच्छे एंकर माने जाते हैं, उतने ही अच्छे थिएटर आर्टिस्ट। उन्होंने कॉलेज के दिनों में कई स्टेज शो किए। इतना ही नहीं उन्होंने फ्रीलांसिग एंकरिंग भी कॉलेज के दिनों में ही की थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।

‘भारत24’ ने मात्र 100 दिनों में यूं लिखी कामयाबी की एक नई दास्तान

हिंदी न्यूज चैनल ‘भारत24’ (Bharat24) ने लॉन्चिंग के करीब साढ़े तीन महीने के भीतर कामयाबी की एक नई दास्तान लिखी है

समाचार4मीडिया ब्यूरो

by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Saturday, 10 December, 2022

Bharat24.jpg

हिंदी न्यूज चैनल ‘भारत24’ (Bharat24) ने लॉन्चिंग के करीब साढ़े तीन महीने के भीतर कामयाबी की एक नई दास्तान लिखी है। दरअसल चैनल ने लॉन्च के मात्र 100 दिनों के भीतर सफलतापूर्वक 100 ऐडवर्टाइजर्स को अपने साथ जोड़ लिया है।

बता दें कि ‘भारत24’ को इस साल 15 अगस्त को लॉन्च किया गया था और यह अब अपने चार महीने पूरा करने वाला है।

चैनल की ओर से जारी किए गए स्टेटमेंट में कहा गया है कि तमाम नेशनल न्यूज स्पेस में दस्तक देने से पहले इस चैनल को लेकर काफी चर्चाएं और इससे काफी अपेक्षाएं थीं, जोकि न्यूज ब्रैंड में किए अपने वादे पर खरा उतरा है और आगे बढ़ने में कामयाब रहा है।

स्टेटमेंट में आगे कहा गया है कि लीडरशिप के रोल में ‘भारत24’ के सीईओ व एडिटर-इन-चीफ डॉ. जगदीश चंद्रा और चीफ बिजनेस ऑफिसर व स्ट्रैटजिक एडवाइजर मनोज जिज्ञासी की दूरदर्शी सोच के चलते दोनों को रेवेन्यू कभी भी एक चुनौती की तरह नहीं लगा, क्योंकि पहले से ही भीड़भाड़ वाले अत्यधिक प्रतिस्पर्धी हिंदी न्यूज स्पेस में चैनल ने सीमित विज्ञापन राजस्व तय कर अपना पहला कदम रखा था, जोकि अब सफल रहा है।

‘भारत24’ ने वर्तमान में पूरे राष्ट्रीय स्पेक्ट्रम से 100+ क्लाइंट्स (ऐडवर्टाइजर्स) का दावा किया है, जिन्होंने चैनल की पिच में गहरी दिलचस्पी दिखाई है और चैनल पर अपने कैंपेन चलाकर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है।

मनोज जिज्ञासी कहते हैं, 'हमें खुशी है कि इतने कम समय में 100 से अधिक क्लाइंट्स का विश्वास हासिल कर पाए हैं। मैं समर्पित पेशेवरों की अपनी टीम को श्रेय देना चाहता हूं जो लगातार ग्रोथ के लिए अपने लक्ष्य का पीछा कर रहे हैं।

साथ ही उन्होंने रेवेन्यू स्ट्रैटजी के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि हमने सुपर इंडियन्स जैसे कुछ बड़े-टिकट वाले आईपी की घोषणा की है, जिसके लिए पहली बार किसी न्यूज कार्यक्रम के लिए हमारे पास सेलिब्रिटी होस्ट के तौर पर बड़े फिल्म स्टार गोविंदा हैं। 'स्टेट्स मेक द नेशन' के अपने उद्देश्य के साथ हमने विभिन्न राज्यों में ‘शिखर सम्मान’ की स्थापना की है ताकि न्यू इंडिया के विजन में योगदान देने मोबाइल से फ्रीलांसिग कैसे करें? वालों को एक मंच दिया जा सके। हमने हाल ही में ‘स्वस्थ भारत हेल्थ कॉन्क्लेव' की भी घोषणा की है, जिसमें हेल्थकेयर में उत्कृष्टता पर प्रकाश डाला गया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।

रेटिंग: 4.42
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 144