by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Saturday, 10 December, 2022

Expert Column समाचार

हाल ही में अमेरिकी एक्सचेंज FTX ने दिवालिया प्रक्रिया के लिए आवेदन किया है। इसने पूरे क्रिप्टो की सच्चाई को सामने ला दिया है। यह ठगी करने वाले लोगों के लिए जल्द पैसा बनाने का एक अच्छा तरीका है और केवल सबसे ज्यादा जालसाजों को .

2020 के मध्य से बाजार में बड़ी संख्या में नए निवेशक आए हैं। बड़ी संख्या नए निवेशक इक्विटी और फ्यूचर्स एवं आप्शंस में अंतर नहीं समझ पाते हैं। ऐसे में हमें इनके मूल मकसद को समझकर ही निवेश करना चाहिए।

चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही या सितंबर तिमाही में सभी बैंकों ने शुद्ध लाभ और फंसे कर्ज (एनपीए) के पैमानों पर शानदार प्रदर्शन किया है। बैंकों को अर्थव्यवस्था की रीढ़ माना जाता है। इसके जरिये ही अर्थव्यवस्था को गतिशील और मजबूत .

बीते करीब छह महीने से भारतीय बाजारों का व्यवहार वैश्विक बाजारों से अलग रहा है। खासतौर पर अमेरिकी बाजारों की तुलना में। अमेरिकी बाजारों से तुलना इसलिए भी सही हैं क्योंकि हमारे ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय फंड्स अमेरिका पर फोकस करते .

हाल में अंतरराष्ट्रीय व्यापार को भारतीय मुद्रा यानी रुपये में करने के लिए सरकार ने विदेश व्यापार नीति में बदलाव किया है। अब सभी तरह के पेमेंट बिलिंग और आयात-निर्यात में लेन-देन का निपटारा रुपये में हो सकता है। रुपये के अंत.

पिछली सदी के अंतिम दशक तक विश्व व्यवस्था की दिशा और दशा को तय करने में रक्षा और विदेश नीति की महत्वपूर्ण भूमिका होती थी। परंतु धीरे-धीरे यह परिदृश्य बदलता गया और इसमें आर्थिकी का योगदान भी महत्वपूर्ण होता गया।

अगर आप एक मोबाइल फोन खरीदना चाहते हैं या एक जोड़ी जूते लेना चाहते हैं या एक कार तो अपना फोन निकालिए और आपको उसका सही-सही खर्च तुरंत पता चल जाएगा। मगर यही चीज आप अस्पताल के एपिसोड के साथ नहीं कर सकते।

Mutual Fund में SIP या दूसरे तरीकों से निवेश का मतलब यही है कि बुरे वक्त में निवेश जारी रखा जा सके। स्मार्ट इन्वेस्टर इस बात का अनुमान नहीं लगाते कि मार्केट किस दिशा में जा रहे हैं। वो निवेश का सही जरिया तलाश लेते हैं।

Investment and Saving किसी ने एक बार कहा था कि निराशावादी स्मार्ट लगते हैं और आशावादी पैसे बनाते हैं। क्या आप जानते हैं कि निराशावादी स्मार्ट क्यों लगते हैं क्योंकि उनकी बातें तथ्यों रुझानों आंकड़ों अनुमानों से लदी-फंदी होती .

सीआइसी के अनुसार देश के शहरी क्षेत्रों में ईएमआइ चुकाने वाले आमतौर पर 18 से 35 साल के नौजवान हैं। इन नौजवानों का देश की आर्थिकी को आगे बढ़ाने में व्यापक योगदान है। ऐसे में इन लोगों द्वारा लिए गए लोन पर मासिक किस्तों को बढ़ाते.

आर्थिक विकास में बैंकों का व्यापक योगदान एक बार फिर सामने आया है। परंतु भारत में बैंकों में पांच लाख रुपये तक की जमा राशि ही सरकार द्वारा गारंटीड होती है इससे अधिक रकम का सुरक्षा कवच नहीं है।

Stock Market Investment: क्या कहानियों पर भरोसा करके निवेश करते हैं आप? समझ लें वैल्यू इन्वेस्टिंग के कायदे

एक निवेश के चुनाव का पूरा आकलन और विश्लेषण होने स्टॉक एक्सचेंज का सही मतलब क्या होता है के बाद आपको ये सोचना ही होगा कि जो लागत आप अदा कर रहे हैं वो आगे जा कर मुनाफे में बदलेगी या नहीं। निवेश के दाम पर ही फोकस बनाए रखना वैल्यू इन्वेस्टिंग है।

विश्व आर्थिक मंच के अनुसार दुनिया में लगभग 100 देशों में सरकारी नियंत्रण वाली डिजिटल करेंसी लाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। चीन ने 2023 में ऐसा करने की घोषणा कर रखी है। यूरोप के 27 देशों में डिजिटल करेंसी लाने की योजना पर .

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की घोषणा के अनुसार देश में जल्द ही ई-रुपया लांच किया जा सकता है। ई-रुपी की चर्चा ने इस बीच तब जोर स्टॉक एक्सचेंज का सही मतलब क्या होता है पकड़ा जब भारतीय रिजर्व बैंक ने ऐसे संकेत दिए हैं कि वह डिजिटल रुपये के निर्माण-संचालन में ब्लाकचेन.

विडंबना है कि अमीर की आय ज्यादा तेजी से बढ़ रही है और गरीब की आय तुलनात्मक रूप से कम तेजी से बढ़ रही है? इनका जवाब है पब्लिक पालिसी अर्थात लोक नीतियों का खामियों से युक्त होना।

पिछले कुछ समय से अमेरिकी डालर की तुलना में रुपये की कीमत गिरती जा रही है। वैसे इस गिरावट को रोकने के लिए आरबीआइ द्वारा हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। कई संबंधित कारणों से हाल के दिनों में लोगों की क्रय शक्ति कम हुई है।

ऐसे इन्वेस्टर जो मार्केट की स्थितियों को नजरअंदाज कर रिस्क वाली शैली ही हमेशा अपनाए रहते हैं वो शायद ही कभी अच्छा कर पाते हैं। अगर आप तब तक इंतजार करते हैं जब उनकी जरूरत होगी तब बहुत देर हो जाएगी।

आपका वित्तीय सलाहकार उस डाक्टर की तरह होता है जो कई टेस्ट और स्कैन करता है और ऐसी कई बीमारियां ढूंढ-ढूंढ के निकाल देता है जिन्हें अच्छे-खासे इलाज की जरूरत होती है। आपको ऐसा वित्तीय सलाहकार नहीं मिलेगा जो आपसे कहे कि आपके निवे.

RBI News आपको अपने कार्ड के डिटेल की जगह यूनिक कोड सेव करना होगा। एक तरह से देखा जाए तो कार्ड टोकनाइजेशन पासवर्ड मैनेजर की तरह का कार्य करेगा जो आनलाइन लेन-देन के दौरान यूनिक कोड जेनरेट करेगा।

एक्सिस बैंक के एमडी और सीईओ अमिताभ चौधरी ने बैंकिंग सेक्टर के समक्ष नई तकनीक से पैदा होने वाली चुनौतियों ब्याज दरों की स्थिति और आर्थिक विकास के भावी स्वरूप पर दैनिक जागरण के विशेष संवाददाता जयप्रकाश रंजन से विस्तार में बात क.

EliteHindi

IND vs NZ 3rd T20 Live Streaming: फ्री में देख सकते हैं भारत-न्यूजीलैंड मैच, जानिए कब और कहां देखें मैच?

IND vs NZ 3rd T20 Live Streaming

IND vs NZ 3rd T20 Live Streaming, India vs New Zealand ka match kis channel par aayega, India vs new Zealand ka match live kaha dekhen, IND vs NZ live match kaise dekhe IND vs NZ 3rd T20 Live Streaming: IND vs NZ 3rd T20: टी20 विश्व कप 2022 खत्म होने के बाद अब दुनियाभर … Read more

भारत न्यूज़ीलैंड तीसरा टी20 मैच india vs new zeland 3rd t20 match pitch report in hindi 2022

Squads: New Zealand Squad: Finn Allen, Devon Conway(w), Glenn Phillips, Mark Chapman, Daryl Mitchell, James Neesham, Mitchell Santner, Adam Milne, Ish Sodhi, Tim Southee(c), Lockie Ferguson, Michael Bracewell, Blair Tickner India Squad: Ishan Kishan, Rishabh Pant(w), Suryakumar Yadav, Shreyas Iyer, Hardik Pandya(c), Deepak Hooda, Washington Sundar, Bhuvneshwar Kumar, Arshdeep Singh, Mohammed Siraj, Yuzvendra Chahal, Harshal Patel, Sanju … Read more

Dream11 पर टीम कैसे बनाये – Dream11 पर टीम बनाने का सही तरीका क्या है ?

dream11

Dream11 ये एक prediction यानी अनुमान लगाने का game है।आपको दोनों टीमों के खिलाड़ियों में से 11 खिलाड़ियों का चयन करना होता है, जिसमें एक टीम के 7 से ज्यादा खिलाड़ी नहीं ले सकते. आपको एक टीम के कम से कम 4 खिलाड़ी तो लेने ही होंगे। इसलिए आपको बहोत ही सोच समझ कर players … Read more

उत्तर प्रदेश (यूपी) में कितने जिले हैं ? उनके नाम इस प्रकार है

यूपी में कितने जिले हैं उनके नाम इस प्रकार है उत्तर प्रदेश में कुल 75 जिले है, जनसँख्या के हिसाब से सबसे बड़ा जिला आगरा और क्षेत्रफल के हिसाब से लखीमपुर खीरी है और जनसँख्या में सबसे छोटा जिला महोबा है और क्षेत्रफल में सन्त रविदास नगर है, उत्तर प्रदेश के लोकसभा सदस्यों की सूची उनकी लोकसभा सीट … Read more

दुनिया के 10 सबसे ज्यादा आबादी वाले देश / World Most Population Country 2022

maxresdefault 3

जानिए सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश कौन सा है ? चीन दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देशहैं । चीन की जनसंख्या 1 अरब 38 करोड़ है. जो कि विश्व की आबादी का 18.3 प्रतिशत हिस्सा हैं । हमारा देश भारत सबसे अधिक आबादी वालादुनिया का दूसरा देश हैं। बढ़ती जनसंख्या विश्व के लिए एक गंभीर समस्या हैं लेकिन उससे पहले हमें यह जानना बेहद जरूरी है … Read more

AM और PM क्या हैं और AM and PM का फुल फॉर्म ?

AM और PM का मतलब क्या होता है इसके समय में दिन और रात का समय होता है इसलिए 24 घंटे को दो भागों में बांटा गया है AM जिसका मतलब है पूर्वाह्न यानी दोपहर से पहले और PM जिसका मतलब है मध्याह्न यानी दोपहर के बाद होता है AM का मतलब जानते है और … Read more

VPN क्या है ? What is VPN in Hindi

vpn kya hai

VPN यानी वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क। यह एक ऐसा टूल है, जो आपको प्राइवेट नेटवर्क बनाने में मदद करता है। आप जियो, एयरटेल, BSNL की ब्रॉडबैंड का इस्तेमाल कर रहे हों, VPN आपको अपना प्राइवेट नेटवर्क बनाने की इजाजत देता है। प्राइवेट नेटवर्क का मतलब है कि आप सीमित लोगों से या अपने होम नेटवर्क कनेक्शन … Read more

UPI क्या है? UPI कैसे काम करता है

upi kya hai

UPI Full Form in Hindi UPI का फुल फॉर्म है Unified Payments Interface UPI बैंकों से लेनदेन की सुविधा प्रदान करने वाली नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा बनाई गई एक पेमेंट सर्विस है, जिससे पैसों का लेनदेन ऑनलाइन UPI की मदद से बहौत जल्दी पैसे ट्रांसफर किये जा सकते हैं. UPI को भारतीय रिज़र्व … Read more

आईपीओ (IPO) क्या है हिंदी में जानिए? आईपीओ में INVEST कैसे करें?

IPO क्या है 1

IPO : भारतीय शेयर मार्केट में इन दिनों Initial public offering यानी (IPO) की बाढ़ आई हुई है. बाजार की इसी तेजी का फायदा उठाने के लिए अभी और भी ज्यादा आईपीओ के आने की उम्मीद है. तो आइए जानते है, क्या है आईपीओ (IPO), ये कैसे काम करता है, इसमें निवेश की क्या संभावनाए … Read more

OS क्या होता है ? OS के बारे में जानकारी | Operating System Kya Hai in hindi

OS क्या है

ओएस क्या है हिंदी में जानिए OS क्या है – OS का फुल फॉर्म है, ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System). एक ऑपरेटिंग सिस्टम एक सॉफ्टवेयर है जो End-user और कंप्यूटर हार्डवेयर के बीच एक इंटरफ़ेस के रूप में कार्य करता है। जिस तरह से किस गाड़ी को चलाने के लिए पेट्रोल या डीजल की जरुरत पड़ती … Read more

Stock Exchange Meaning in Hindi 2022 – स्टॉक एक्सचेंज का कार्य,लाभ क्या है

हेलो दोस्तो आज के पोस्ट में हम लोग बात करने वाले stock exchange meaning in hindi | स्टॉक एक्सचेंज क्या होते हैं ,स्टॉक एक्सचेंज का कार्य क्या क्या होते हैं इसका लाभ क्या है और इसका स्थापना क्यों की गई थी सारे सवाल के जवाब आप इस पोस्ट में देखने वाले हैं तो इस पोस्ट को आगे तक देखते रहे और लास्ट में अब का मूल्य बान कमेंट भी आप नीचे कमेंट कर सकते हैं ।
मेरा नाम सुजन दास है और बीयर पीते 5 सालों से स्टॉक मार्केट के बारे में अच्छा खासा नॉलेज गेंद कर चुका हूं उसी के वेबपेज आज की पोस्ट स्टॉक एक्सचेंज क्या होती है बनाया गया है मुझे उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट अच्छी लगेगी और आपका जो डाउट है वह सारा सब कुछ क्लियर हो जाएगा इसी पोस्ट में । तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक ।

स्टॉक मार्केट क्या होता है

Ei post ka Shortcut

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज, स्टॉक एक्सचेंज क्या होता है, स्टॉक एक्सचेंज के कार्य, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज क्या है, स्टॉक एक्सचेंज के लाभ, विश्व का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की स्थापना, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के कार्य, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज इन हिंदी,

तो दोस्तों पहले शॉर्ट में समझ लेते स्टॉक मार्केट क्या होता है स्टॉक मार्केट एक बाजार है जहां पर लिस्टेड पब्लिक कंपनी के शेयर खरीदा और बेचा जा सकते हैं । जिस तरह से आप फर्नीचर खरीदने के लिए फर्नीचर की मार्केट में जाते हैं , सब्जी खरीदने के लिए सब्जी के मार्केट जाते हैं उसी तरह से लिस्टेड पब्लिक कंपनी के स्टॉक्स को खरीदने के लिए आप स्टॉक मार्केट जाते हो ।

  • अगर आप आवेतक डिमैट अकाउंट नहीं खुला है तो जल्दी से इन लिंक पर क्लिक करें और डिमैट अकाउंट खोलें groww app pe demat account khole- Click here
  • upstox app pe demat account khole – click here
  • Follow Facebook page – click here
  • follow Twitter page – click here
  • follow Telegram channel – click here
  • read more post – Groww App Me Free demat Account Kaise Khole 2022
  • आज किस कंपनी के शेयर खरीदे 2022
  • ₹10 से कम कीमत वाले शेयर

चलिए अब हम लोग बात कर लेते स्टॉक एक्सचेंज क्या होती है ।

स्टॉक एक्सचेंज क्या होता है

अगर सपोर्ट किसी फर्नीचर मार्केट में आग जाते हो तो क्या ऐसा होगा कि वहां पर सिर्फ एक के फर्नीचर की दुकान मिलेगा । नहीं ना अगर आप बाजार जा रहे हैं तो वह पेड़ छोटे-छोटे कई सारे दुकान देखने को मिल जाती है । अगर आप सब्जी मंडी खरीदने के लिए सब्जी मार्केट जाते हो तो वहीं पर भी बहुत सारा दुकान आपको देखने को मिल जाता है । उसी तरह से स्टॉक मार्केट में भी कई तरह से अलग-अलग Shops होती है जहां से आपकी स्टॉक्स खरीद सकते हैं । और इस Shops को स्टॉक एक्सचेंज बोला जाता है ।

स्टॉक एक्सचेंज मतलब जाफर स्टॉक का एक्सचेंज होता है । किसी ने खरीदा तो किसी ने बेचा किसी ने बेचा तो किसी ने खरीदा ऐसा चलता ही रहता है ।
इंडिया में सबसे बड़ा दो ऐसे स्टॉक एक्सचेंज है जहां पर ज्यादा खरीदा और बेचा जाता है । ऐसा तो बहुत सारे स्टॉक एक्सचेंज हमारे भारत के अंदर मौजूद है लेकिन मंडली दो स्टॉक एक्सचेंज किस ज्यादा उपयोग किया जाता है जिसका नाम है पहला है बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज(bse) . और दूसरा है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (nse )

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में कितना कंपनी लिस्टेड है ?

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लगभग 5000 से भी ज्यादा कंपनी लिस्टेड है इसका मेन कारण है यह कंपनी सबसे पुराना है और पुराना होने के बावजूद इसमें बहुत सारा पुराना कंपनी भी आ जाती है ।

'NDTV इंडिया' से वरिष्ठ टीवी पत्रकार अभिषेक शर्मा ने दिया इस्तीफा

समाचार4मीडिया ब्यूरो

by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Wednesday, 07 December, 2022

Abhishek8421.jpg

वरिष्ठ टीवी पत्रकार रवीश कुमार के हाल ही में इस्तीफा देने के बाद 'NDTV इंडिया' से जुड़े कई पत्रकार एक के बाद एक ऑर्गनाइजेशन छोड़ रहे हैं। इसी कड़ी में अब वरिष्ठ टीवी पत्रकारअभिषेक शर्मा का नाम भी जुड़ गया है, जोकि 'NDTV इंडिया' के मुंबई ब्यूरो के अग्रणी सदस्यों में से एक हैं। उन्होंने 17 साल से अधिक समय तक चैनल से जुड़े रहने के बाद अब इस्तीफा दे दिया है।

एक हफ्ते पहले, NDTV इंडिया के सीनियर एग्जिक्यूटिव एडिटर रवीश कुमार ने भी इस्तीफा दे दिया था। रेमन मैग्सेसे पुरस्कार विजेता रवीश कुमार 'हम लोग', 'रवीश की रिपोर्ट', 'देश की बात' और 'प्राइम टाइम' सहित कई कार्यक्रमों की मेजबानी करते थे। उन्होंने यह फैसला प्रणय रॉय और राधिका रॉय के एनडीटीवी की प्रमोटर कंपनी आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर पद से इस्तीफे के तुरंत बाद लिया था।

बता दें कि 22 नवंबर को, अडानी समूह ने एक खुली पेशकश शुरू करके कंपनी में अतिरिक्त 26 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने की प्रक्रिया शुरू की थी, जो 5 दिसंबर को समाप्त हो गई है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।

‘भारत24’ ने मात्र 100 दिनों में यूं लिखी कामयाबी की एक नई दास्तान

हिंदी न्यूज चैनल ‘भारत24’ (Bharat24) ने लॉन्चिंग के करीब साढ़े तीन महीने के भीतर कामयाबी की एक नई दास्तान लिखी है

समाचार4मीडिया ब्यूरो

by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Saturday, 10 December, 2022

Bharat24.jpg

हिंदी न्यूज चैनल ‘भारत24’ (Bharat24) ने लॉन्चिंग के करीब साढ़े तीन महीने के भीतर कामयाबी की एक नई दास्तान लिखी है। दरअसल चैनल ने लॉन्च के मात्र 100 दिनों के भीतर सफलतापूर्वक 100 ऐडवर्टाइजर्स को अपने साथ जोड़ लिया है।

बता दें कि ‘भारत24’ को इस साल 15 अगस्त को लॉन्च किया गया था और यह अब अपने चार महीने पूरा करने वाला है।

चैनल की ओर से जारी किए गए स्टेटमेंट में कहा गया है कि तमाम नेशनल न्यूज स्पेस में दस्तक देने से पहले इस चैनल को लेकर काफी चर्चाएं और इससे काफी अपेक्षाएं थीं, जोकि न्यूज ब्रैंड में किए अपने वादे पर खरा उतरा है और आगे बढ़ने में कामयाब रहा है।

स्टेटमेंट में आगे कहा गया है कि लीडरशिप के रोल में ‘भारत24’ के सीईओ व एडिटर-इन-चीफ डॉ. जगदीश चंद्रा और चीफ बिजनेस ऑफिसर व स्ट्रैटजिक एडवाइजर मनोज जिज्ञासी की दूरदर्शी सोच के चलते दोनों को रेवेन्यू कभी भी एक चुनौती की तरह नहीं लगा, क्योंकि पहले से ही भीड़भाड़ वाले अत्यधिक प्रतिस्पर्धी हिंदी न्यूज स्पेस में चैनल ने सीमित विज्ञापन राजस्व तय कर अपना पहला कदम रखा था, जोकि अब सफल रहा है।

‘भारत24’ ने वर्तमान में पूरे राष्ट्रीय स्पेक्ट्रम से 100+ क्लाइंट्स (ऐडवर्टाइजर्स) का दावा किया है, जिन्होंने चैनल की पिच में गहरी दिलचस्पी दिखाई है और चैनल पर अपने कैंपेन चलाकर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है।

मनोज जिज्ञासी कहते हैं, 'हमें खुशी है कि इतने कम समय में 100 से अधिक क्लाइंट्स का विश्वास हासिल कर पाए हैं। मैं समर्पित पेशेवरों की अपनी टीम को श्रेय देना चाहता हूं जो लगातार ग्रोथ के लिए अपने लक्ष्य का पीछा कर रहे हैं।

साथ ही उन्होंने रेवेन्यू स्ट्रैटजी के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि हमने सुपर इंडियन्स जैसे कुछ बड़े-टिकट वाले आईपी की घोषणा की है, जिसके लिए पहली बार किसी न्यूज कार्यक्रम के लिए हमारे पास सेलिब्रिटी होस्ट के तौर पर बड़े फिल्म स्टार गोविंदा हैं। 'स्टेट्स मेक द नेशन' के अपने उद्देश्य के साथ हमने विभिन्न राज्यों में ‘शिखर सम्मान’ की स्थापना की है ताकि न्यू इंडिया के विजन में योगदान देने वालों को एक मंच दिया जा सके। हमने हाल ही में ‘स्वस्थ भारत हेल्थ कॉन्क्लेव' की भी घोषणा की है, जिसमें हेल्थकेयर में उत्कृष्टता पर प्रकाश डाला गया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से स्टॉक एक्सचेंज का सही मतलब क्या होता है मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।

हरियाणा विधानसभा भवन निर्माणः विधानसभा अध्यक्ष बोले- पंजाब के नेता बेवजहा इसे मुद्दा बना रहे हैं

हरियाणा विधानसभा भवन निर्माणः नए विधानसभा भवन की जमीन पर पंजाब के विरोध को लेकर राजनीतिक एक बार फिर से गरमाने लगी है. इस मुद्दे पर हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता से बातचीत की है, जिसमें उन्होंने कहा कि पंजाब के नेता बेवजहा इसे मुद्दा बना रहे हैं.

7

9

alt

7

alt

13

नवीन शर्मा/चंडीगढ़ः पंजाब हरियाणा के बीच जहां पहले ही लंबे समय से तमाम विवाद चल रहे हैं. चाहे वो चंडीगढ़ पर अधिकार को लेकर हो या फिर SYL मुद्दे को लेकर हो, लेकिन इस समय जो विवाद सबसे ज्यादा गरमाया हुआ है वो है हरियाणा सरकार की तरफ से हरियाणा की विधानसभा भवन के निर्माण के लिए चंडीगढ़ में एक अलग जमीन की मांग का. दरअसल, यह मुद्दा इस साल तब गरमाना शुरू हुआ. जब जयपुर में जुलाई माह में नार्थ जोन कौंसिल की मीटिंग होती है.

9 जुलाई को उस मीटिंग में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल हरियाणा विधानसभा के अलग भवन के निर्माण के लिए चंडीगढ़ में अलग जमीन की मांग करते हैं और गृह मंत्री अमित शाह उस पर हामी भर देते हैं, जिसके बाद पंजाब के विभिन्न राजनीतिक दलों के तमाम नेताओं की तलख प्रतिक्रियाएं सामने आती हैं और हाल ही में फिर यह मुद्दा गर्माता हुआ दिखाई दे रहा है. जब हरियाणा सरकार चंडीगढ़ यू टी प्रशासन को इस जमीन के लिए लैंड ऑफ एक्सचेंज का पुरपोजल भेजते हैं जिसके साथ ही पंजाब बीके हर राजनीतिक दल से तलख प्रतिक्रियाओं का दौर फिर से शुरू हो जाता है.

अकाली दल का डेलिगेशन पंजाब गोवर्नर जो यू टी चंडीगढ़ के प्रशासन भी हैं और हरियाणा सरकार के यू टी को भेजे पुरपोजल को न मानने का आग्रह करते हैं. इसके इलावा नेता विपक्ष प्रताप बाजवा भी प्रधानमंत्री मोदी को इसके विरोध करते हैं. यहां तक कि भाजपा में शामिल हो चुके सुनील जाखड़ भी इसे सही नहीं ठहराते है. तमाम पंजाब के नेता कहते हैं कि हरियाणा इसके जरिए चंडीगढ़ पर अपना हक जताने की कोशिश कर रहा है.

इस मुद्दे पर हमने हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता से बातचीत की है, जिसमें उन्होंने कहा कि पंजाब के नेता बेवजहा इसे मुद्दा बना रहे हैं. जबकि, समय के साथ हरियाणा के विधानसभा मेम्बरों की संख्या पहले भी बढ़ी है और आगे भी 2026 तक 20 से 25 और बढ़ेगी, लेकिन 2 भी संख्या और हम बढ़ाना चाहे तो उन्हें बैठाने के लिए हमारे पास मौजूदा विधानसभा भवन में जगह नहीं है. सिर्फ इसलिए हम अलग विधानसभा बनाना चाह रहे हैं.

इस पर जब हमने ज्ञान चंद गुप्ता से पूछा कि कई पंजाब के नेता कह रहे हैं कि जहां आप चंडीगढ़ में रेलवे स्टेशन के पास जगह मांग रहे हो उससे कुछ दूरी पर पंचकूला है. वहां क्यों नहीं अलग विधानसभा बना लेते इस पर गुप्ता ने कहा कि चंडीगढ़ में बनाना क्या गलत है. अगर वो इसको लेकर हम पर आरोप लगा रहे हैं. हम चंडीगढ़ पर अधिकार जमा रहे हैं. तब क्या पंजाब को सचिवालय में कम जगह लगी तो इन्होंने भी अलग मिनी सचिवालय चंडीगढ़ में बनाया तो क्या यह अपना राईट establish करने को करते हैं.

जाखड़ ने जो कहा था पंजाब की जो विधानसभा में कैपिटल कॉम्प्लेक्स में ही है. उसका इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि बहुत कम समय के लिए सत्र होते हैं. इस पर गुप्ता ने कहा कि यह संभव ही नहीं है जो जाखड़ कह रहे हैं. इसके इलावा जो आर्टिकल 3 के उलंग्न की बात अकाली दल कह रहा है कि प्रदेशों की यू टी की बाउंडरी सिर्फ पार्लियामेंट चेंज कर सकती है. हरियाणा सरकार लैंड ऑफ एक्सचेंज पुरपोजल भेजकर कंनून का उलंग्न कर रही है पर गुप्ता ने कहा स्टॉक एक्सचेंज का सही मतलब क्या होता है कि लैंड एक्सचेंज से कोई बाउंडरी चेंज नहीं हो रही यह पहले भी होता है.

एक बार तो गुप्ता ने इतना भी कह दिया था कि अगर कभी पंजाब को चंडीगढ़ मिल भी जाता है तो यह जमीन भी उनके पास ही चले जाएगी. यह क्यों ऐसा कर रहे हैं, लेकिन फिर गुप्ता ने कहा भी दिया कि वैसे ऐसा होने नहीं वाला और जो ला आर्डर का जो वास्ता यह दे रहे हैं. तो अपने प्रदेश में यह संभालना अपनी-अपनी सरकार की जिम्मेवारी है. यू टी ने लैंड एक्सचेंज ऑफर पर मोहर लगा दी है या नहीं इसका जवाब देने से गुप्ता बचते हुए नजर आए.

रेटिंग: 4.24
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 424