क्रिप्टो एक्सचेंज ने कॉइन मार्केट कैप, कॉइनगीको जैसे प्लेटफार्म भी खड़े किए जहां क्रिप्टो की कीमत, मार्किट कैप, किसी कॉइन की अधिकतम व न्यूनतम कीमत, टोटल सप्लाई और भी कई जानकारियां इन प्लेटफार्म पर उपलब्ध हैं। आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग लेवरेज ट्रेड के कई प्लेटफार्म आज इस एक्सचेंज के कारण ही बाजार में ट्रेडिंग की सुविधाएं दे रहे हैं। एपीआई के द्वारा आप के फण्ड को क्रिप्टो एक्सपर्ट ट्रेड कर सकता है जबकि क्रिप्टो का नियंत्रण आपके ही हाथ में रहता है। इन सुविधाओं के साथ ही क्रिप्टो एक्सचेंज ने कठिन समय में भी लोगो का बहुत साथ दिया।भारत में जब रिज़र्व बैंक ने क्रिप्टो खरीदने और बेचने के लिए बैंक का इस्तेमाल करने पर प्रतिबन्ध लगा दिया था तब वज़ीरएक्स एक्सचेंज ने P2P का विकल्प दिया जहां पर आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग दो व्यक्ति आपस में क्रिप्टो का लेनदेन कर सकते थे। इन एक्सचेंज ने ही सर्वोच्च न्यायालय में क्रिप्टो का मुकदमा लड़ने में भी सहयोग किया।

FTX की तरफ अगर भारत में दिवालिया हुआ कोई क्रिप्टो-एक्सचेंज, तो निवेशकों का क्या होगा?

दुनिया के दूसरे सबसे बड़े क्रिप्टो-एक्सचेंज एफटीएक्स (FTX) के धराशायी होने की खबर आप तक आपके कानों में पहुंच गई है। अमेरिका में कारोबार करने वाले इस क्रिप्टो-एक्सचेंज का मुख्यालय बहमास में है। क्रिप्टो-एक्सचेंज, ग्राहकों को क्रिप्टोकरेंसी खरीदने और बेचने की सुविधा देते हैं। तो FTX के साथ हुआ क्या था? FTX तब धाराशायी हुआ, जब कई रिपोर्टों में यह दावा किया गया था कि उसके फाउंडर सैम बैंकमैन-फ्राइड की कंपनी अल्मेडा रिसर्च के पास कंपनी में भारी FTT होल्डिंग्स है और इसका इस्तेमाल वह और कर्ज जुटाने में कर रही है।

आसान शब्दों में समझें तो, इसका मतलब यह था कि अगर FTT की वैल्यू गिरी तो इसके साथ FTX की वैल्यू भी गिर जाएगी। कम से कम ऐसी आशंका थी। इस खबर ने FTX के लिए नया संकट खड़ा कर दिया, जब दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टो-एक्सचेंज बाइनेंस (Binance) ने कहा कि वह अपनी FTT होल्डिंग को बेच रही है।

बिटकॉइन की सफलता में क्रिप्टो एक्सचेंजस का योगदान (Crypto Exchanges Play an Important Role in Growth of Bitcoin)

2009 में जब बिटकॉइन को बनाया गया तो कहीं पर भी इसे खरीदने और बेचने के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज की बात नहीं की गई थी, क्योंकि बिटकॉइन को बनाने का मक्सद लेनदेन को बिना किसी तीसरे पक्ष के पूरा करना था। बिटकॉइन के साथ ही बिटकॉइन को खरीदने, बेचने और रखने के लिए एक आसान रास्ता निकाला गया क्रिप्टो एक्सचेंज का। ऐसा मन जाता है की Bitstamp, Vircurex, or Btc-e पहली बिटकॉइन एक्सचेंजस हो सकती हैं। लेकिन सही जानकरी यह कहती है आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग की 15 जनवरी 2010 में पहली बिटकॉइन एक्सचेंज Bitcoinmarket.com के नाम से शुरू करने की बात dwdollar ने बिटकॉइन फोरम पर साँझा की। बिटकॉइन फोरम वही जगह है जहां पर बिटकॉइन के बनाने वाले सतोशी नाकामोतो अपने आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग पोस्ट डालते थे।

बिटकॉइन को दुनिया के हाथों में पहुंचाया क्रिप्टो एक्सचेंज ने

आज बिटकॉइन को खरीदना जितना आसान है यह इतना आसान हमेशा से नहीं था और न ही बिटकॉइन को सुरक्षित रखने के तरीकों के बारे में लोगो को ज्यादा ज्ञान था। शुरू में बिटकॉइन एक्सचेंज चलाने वाले भी सुरक्षा में चूक कर जाते थे। क्रिप्टो एक्सचेंज ने सुरक्षा के साथ ही क्रिप्टो को खरीदने और बेचने को आसान बनाने के लिए तकनीक पर काम किया। एक्सचेंज ने देश की मुद्रा से बिटकॉइन को खरीदना और आसान बनाया।एक्सचेंज के बारे में जब लोगों को जानकारी नहीं थी तो लोगों के साथ बहुत से धोखे हुए, खास कर तब जब बिटकॉइन की कीमत बहुत ऊपर चली गई। इसका फायदा उन लोगों ने उठाया जिन्हे बिटकॉइन की आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग जानकारी थी, इन लोगों ने नए निवेशकों को अधिक कीमत पर बिटकॉइन को बेच कर मुनाफा कमाया। क्रिप्टो एक्सचेंज ने न केवल बिटकॉइन को खरीदना आसान आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग बनाया बल्कि बिटकॉइन की कीमत को नई उचाईयों तक पहुंचाने में भी आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग क्रिप्टो एक्सचेंज का बड़ा सहयोग रहा है। बिटकॉइन और क्रिप्टो को ट्रेड करने के लिए आसान प्लेटफार्म देने के साथ ही अलग अलग तरह की ट्रेडिंग तकनीक भी एक्सचेंज ने ही दी। क्रिप्टो को होल्ड रखना, स्टेक करके पैसा बनाना, क्रिप्टो कस्टडी, क्रिप्टो लोन जैसी कई सुविधाएं क्रिप्टो एक्सचेंज ने ही उपलब्ध करवाई। जहां स्टॉक एक्सचेंज पर एक देश से दूसरे देश के शेयर ट्रेड करने में कई समस्याएं हैं, वहीं क्रिप्टो एक्सचेंज पर आप किसी भी देश की एक्सचेंज पर बिना किसी रोकटोक के ट्रेडिंग कर सकते हैं।

Top 5 Crypto Exchange in India: भारत के टॉप क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लैटफॉर्म, जिन्हें इस्तेमाल करना है सबसे आसान

Top 5 Crypto Exchange in India: CoinDCX, CoinSwitch Kuber, WazirX, Zebpay, Unocoin: भारत में दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो इन्वेस्टर बेस है और यहां पर ढेरों क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लैटफॉर्म मौजूद हैं। हम यहां पर आपको यूजर बेस, इंटरफेस और आसानी के आधार पर देश में मौजूद 5 सबसे बढ़िया क्रिप्टो एक्सचेंज के बारे में बता रहे हैं।

  • Mohammad Faisal
  • @itsmeFSL
  • Published on: February 27, 2022 12:18 PM IST

CoinDCX

CoinDCX

CoinDCX मुंबई-बेस्ड क्रिप्टो एक्सचेंज है। यह 2018 में शुरू हुआ था। इस वक्त इस प्लैटफॉर्म पर 1 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं। यह एक्सचेंज अपने आसान इंटरफेस, जीरो डिपॉजिट फी और जीरो विध्ड्रॉल फी के लिए जाना जाता है।

CoinSwitch Kuber

CoinSwitch Kuber

यूजर-बेस के आधार पर CoinSwitch Kuber भारत के टॉप 5 क्रिप्टोएक्सचेंज में से एक है। यह 2017 में लॉन्च हुआ था। दिसंबर 2021 में इसने बताया कि इसके प्लैटफॉर्म पर 1.4 करोड़ यूजर्स मौजूद हैं, जिनमें से 15 प्रतिशत महिलाएं हैं।

Participate & Win Rs.5000 Freecharge Voucher!

BGR.in (Broad Guidance & Ratings) is a leading online destination for all things technology including news आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग related to smartphones, smart TVs, smartwatches, TWS earbuds, latest games and apps, and the general consumer electronics markets. It is among India’s top sources of breaking mobile news, and a technology category leader among early adopters, savvy technophiles, and casual readers alike.

फीचर आर्टिकल: जयपुर के सन क्रिप्टो प्लेटफार्म ने क्रिप्टो ट्रेडिंग को आम लोगों के लिए बनाया आसान

क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसी एसेट क्लास है जिसकी चर्चा पूरी दुनिया में जोरों पर है। हर निवेशक इसमें निवेश करना चाहता है लेकिन जानकारी के अभाव में या फिर बाजार में मौजूद क्रिप्टो एक्सचेंज और प्लेटफार्म की जटिल प्रक्रियाओं के चलते लोग चाहकर भी क्रिप्टो में निवेश नहीं कर पाते। आम निवेशकों की इसी उलझन को समझते हुए दो युवा आंत्रप्रेन्योर ने जयपुर में सन क्रिप्टो प्लेटफार्म की नींव रखी आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग है।

उमेश कुमार और प्रमोद यादव इन दोनों युवाओं की दूरदर्शिता और टेक्नोलॉजी के प्रति इनके लगाव ने सन क्रिप्टो को आज आम निवेशक और निवेश की चाह रखने वालों के बीच लोकप्रिय बना दिया है। खास बात यह है कि सन क्रिप्टो ने क्रिप्टो में निवेश की जानकारी नहीं रखने वालों या कम जानकारी रखने वाले लोगों के लिए भी क्रिप्टो करेंसी में निवेश को काफी आसान बना दिया है।

फीचर आर्टिकल: कॉइन स्विच के साथ क्रिप्टो ट्रेडिंग उतनी ही आसान है जितना अपना फेवरेट फूड ऑर्डर करना

बिटकॉइन और क्रिप्टो करेंसी को लेकर तमाम तरह की बहस और तर्क-वितर्क के बावजूद भारत की जनता ने सुरक्षा जुड़े तमाम संदेह दरकिनार करते हुए न केवल क्रिप्टो करेंसी को अपनाया है, बल्कि दुनिया में क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग करने वाली सबसे बड़ी आबादी भारत की ही है। भारत में क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग को आसान, सुलभ और सुरक्षित बनाने में बहुत बड़ा हाथ देश के तेजी से बढ़ते क्रिप्टो ऐप कॉइन स्विच कुबेर का है। भारत के सबसे सरल क्रिप्टो ऐप कॉइन स्विच कुबेर के साथ 1.2 करोड़ का विशाल निवेशक वर्ग जुड़ चुका है और यह संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

कोई बैंक या मध्यस्थ नहीं, आप हैं अपनी संपत्ति के खुद मालिक
क्रिप्टो करेंसी एक डीसेंट्रलाइज डिजिटल एसेट है। यानी रुपए या डॉलर या किसी आसान क्रिप्टो एक्सचेंजिंग और मुद्रा की तरह इसके मूल्य को रिजर्व बैंक या फेडरल रिज़र्व जैसी सेंट्रल अथॉरिटी नियंत्रित नहीं करती, बल्कि अपनी संपत्ति के आप खुद मालिक होते हैं।

रेटिंग: 4.64
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 419