क्रिप्टोकरेंसी बैंकिंग को लेकर लोगों के मन में कई संशय होते हैं, क्योंकि डिजिटल सिक्के केंद्रीय प्राधिकरण द्वारा विनियमित नहीं होते हैं. एक्सचेंज कंपनियां और फर्म जो डिजिटल मुद्रा के प्रबंधन की सेवाएं प्रदान करती हैं, तकनीकी रूप से बैंक की तरह काम नहीं करती. क्रिप्टोकरेंसी बैंकिंग ज्यादातर लोगों को अपने फंड को डिजिटल वॉलेट में रखने या इसे पारंपरिक पैसे खर्च करने की तरह ट्रेड कॉइन क्या है खर्च करने की अनुमति देती है. लोग एक्सचेंज प्लेटफॉर्म पर अपने क्रिप्टोकरेंसी बैलेंस का प्रबंधन कर सकते हैं.

bitcoin

क्रिप्टोकरेंसी बैंकिंग के क्या हैं फायदे और नुकसान, सब कुछ जानें

cryptocurrency

cryptocurrency

gnttv.com

  • नई दिल्ली,
  • 14 नवंबर 2021,
  • (Updated 14 नवंबर 2021, 11:59 AM IST)

क्या है क्रिप्टोकरेंसी

देश में क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) का क्रेज बड़ी तेजी से बढ़ रहा है. आकर्षक मुनाफा पाने की चाहत में बड़ी संख्या में लोग क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कर रहे हैं. इसे देखते हुए शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने क्रिप्टो ट्रेड’ विषय पर एक व्यापक बैठक की. आखिर क्या है क्रिप्टो करेंसी और लोग इसकी तरफ क्यों आकर्षित हो रहे हैं, आइये जानते हैं.

क्या है क्रिप्टोकरेंसी

मार्केट कैप के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन को वर्चुअल वॉलेट में रखा जाता है,जिनकी यूनीक कीज होती है. बिटकॉइन और अन्य डिजिटल सिक्के नकदी के बराबर हैं, लेकिन ये इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में होते हैं. ये एक तरीके की वर्चुअल मुद्रा होती है, जिसका फिजिकल एक्सिस्टेंस नहीं होता है. डिजिटल मुद्रा को ब्लॉकचेन नामक एक बही प्रणाली द्वारा विकेंद्रीकृत किया जाता है और यह किसी बैंक या केंद्रीय प्राधिकरण द्वारा नियंत्रित नहीं होता.

क्यों डूब सकता है बिटकॉइन में लगा आपका पैसा, ये हैं वजहें

क्यों डूब सकता है बिटकॉइन में लगा आपका पैसा, ये हैं वजहें

पेठे ने बताया कि जब मैंने कंपनी को कई बार फोन और दूसरे तरीके से संपर्क साधा तो अंत में तीन महीने बाद उनके अकाउंट में पैसा आया. पेठे का कहना है कि अब मुझे इस बात का डर लगने लगा है कि इस क्रिप्टोकरेंसी की स्कीम में मेरा किया हुआ निवेश डूबेगा तो नहीं. इसे देखकर पेठे जल्द से जल्द अपना पैसा निकालना चाहते हैं. और भविष्य में वह इस तरह के निवेश से बचना चाहते हैं.

Bitcoins

Bitcoin is a cryptocurrency, or a digital currency, that uses rules of cryptography for regulation and generation of units of currency.

Crypto Spot Trading क्या होती है? What is Crypto Spot Trading in Hindi?

Crypto Spot Trading क्या होती है? What is Crypto Spot Trading in Hindi?

Crypto में ट्रेडिंग के लिए जब आप अपना Account Open करवाते हैं तो Crypto Exchanges के ऊपर आपको काफी कुछ देखने को मिलेगा। और उन्ही में सबसे महत्त्वपूर्ण है Spot Trading, तो “What is Crypto Spot Trading in Hindi?” लेख के माध्यम से इसकी सम्पूर्ण जानकारी देंगे।
इसके अलावा अगर आप Crypto Spot Trading kaise kaam karti hai, Crypto Spot Market kya hai, Crypto Spot Trading kaise kaire, Crypto Spot Trading kya hoti hai आदि। तो इस लेख में हम आपको सभी सवालों का जवाब देगें।

Crypto Spot Trading क्या होती है? What is Crypto Spot Trading in Hindi?

अगर हम Cryptocurrency की दुनिया में बात करें Spot Trading के बारे में तो ये एक ऐसी प्रकिया होती है जिसमें Crypto Coins and Tokens की खरीदी और बिक्री निरंतर चलती रहती है। इसमें ट्रेडर का मुख्य उद्देश्य होता है किसी Coin को कम मूल्य पर खरीदकर अधिकतम मूल्य पर बेचा जाए। इसमें ट्रेडर अधिक से अधिक मुनाफा कमाना चाहता है।

Spot Trading में ट्रेडर्स काफी कम समय के दौरान ही खरीदी बिक्री करते हैं। इसमें Spot Price के ऊपर खरीद कर मूल्य थोड़ा ऊपर जाते है बेच दिया जाता है। तथा पूरे दिन में ट्रेडर्स द्वारा काफी Spot Trades की जाती हैं।
यदि आप एक Spot Trader हैं तो आपको अपनी Crypto currency को लंबे समय तक Hold रखने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। आपको तो बस कम समय में मुनाफा देने वाली रणनीतियों को खोजने की आवश्यकता है।

Crypto Spot Market क्या है? What is Spot Market in Crypto Hindi?

Cryptocurrency Market में Spot Market एक ऐसी जगह है जहां पर Exchanges Real time ट्रेड करने की सेवा उपलब्ध करवाते हैं। यहां पर आप दूसरे ट्रेडर्स के साथ में Real Time ट्रेड कर सकते हैं। और यहां पर विभिन्न प्रकार की Cryptocurrency में ट्रेड कर सकते हो। इस मार्केट में तीन मुख्य घटक होते हैं जिनमे Buyers, Sellers और Order Book शामिल होते हैं।

Spot Market में आप जिस वक्त ऑर्डर लगाते हैं उसी वक्त आपका ऑर्डर पूरा हो जाता है।
Spot Market कई प्रकार से काम करती है जैसे की 3RD Party Exchanges तथा OTC ( Over the Counter ) , जो Buyers और Seller’s के बीच में मध्यस्थ का काम करते हैं उन्हें 3rd Party Exchanges कहते हैं। वहीं दूसरी ओर OTC में Buyer और Seller के बीच में कोई भी मध्यस्थ नही होता।

Crypto Spot Trading के फायदे क्या हैं? Benefits of Spot Trading in Crypto Hindi

• अगर Crypto Spot Market में देखा जाए तो यहां पर मुनाफा कमाने की अधिक संभावना होती है। यहां पर खरीदी और बिक्री आप साथ साथ कर सकते हैं।
Spot Market Day Traders के लिए काफी फायदेमंद होती है क्योंकि यहां पर ट्रेड कॉइन क्या है आप जल्दी जल्दी छोटे मुनाफे की काफी ट्रेड ले सकते हो।
• Spot Trading आपको मोलभाव करने की सेवा उपलब्ध करवाती है। यहां पर Buyer और Seller दोनों ही अपने फायदे के अनुसार मोलभाव कर सकते हैं। इसी मोलभाव के कारण Crypto Spot Trading काफी आकर्षक नजर आती है।
• Spot Market के अंदर छोटे पूंजी वाले ट्रेंड्स भी ट्रेड कर सकते हैं। क्योंकि यहां पर अधिक पूंजी का कोई नियम नहीं है। इस मार्केट में Crypto काफी अच्छे रिटर्न देते हैं इसलिए आप एक छोटी धन राशि से भी मोटा पैसा कमा सकते हैं।
• यहां पर आप Fiat Currency में ट्रेड कर सकते हो। तथा किसी एक Crypto से दूसरा Crypto Coin भी खरीद सकते हो।
• Spot Trading में सभी ट्रेंड्स तुरंत होती है, इसमें समय नहीं लगता है। इसलिए लिए इस मार्केट को निष्पक्ष कहा जाता है।
• इस मार्केट में आपको कम दामों पर टोकन खरीदने तथा अधिक मूल्य पर टोकन बेचने की सुविधा उपलब्ध होती है।

Binance Coin Kya Hai in Hindi 2022

दोस्तो, हमारे पिछले कुछ ब्लाॅग में हमने अलग अलग क्रिप्टोकरंसी के बारे में देखा, आज हम ऐसे ही एक क्रिप्टोकरंसी की बात करेंगे जिसका नाम हैं Binance Coin.
आज हम देखेंगे Binance coin Kya hota hai in Hindi 2022 ? Binance Share Price क्या हैं? इसके बारे में हमें पुरे विस्तार से चर्चा करेंगे, तो चलिये देखते हैं.

Binance Coin Kya Hai in Hindi 2021

Telegram

बायनांस काॅईन की आज कि प्राइस कितनी हैं? ( Binance Coin Price)

अगर Binance Coin Price कि बात करें तो आज के समय में यानी अगस्त 2021 में 500 $ ( 37000 INR) चल रहीं हैं. अगर Binance Coin Price Prediction 2025 कि बात करें तो इसमें इन्वेस्टमेंट करनेवालो का का मानना भी है की इसकी किंमत 1000$ के भी पार हो सकती हैं.
अगर हम Binance Coin Initial Price कि बात‌ करें यानी जुलै 2017 कि तो यह लगभग 0.10 $ थी जो कि बहुत ही कम थी.

बायनांस वाॅलेट क्या हैं? (Binance Coin Wallet)
बायनांस चेन वाॅलेट, बायनांस स्मार्ट चेन, एथिरियम को एक्सिस करने के लिये Binance Coin ट्रेड कॉइन क्या है Wallet का इस्तमाल किया जाता हैं. इसका इस्तमाल आप दुसरे क्रिप्टोकरेंसी को सुरक्षित रखने के लिये भी कर सकते हैं और साथ साथ दुसरे अलग से क्रिप्टोकरेंसी में जुडने हेतु इसका प्रयोग किया जाता हैं.

इसे भारत में कैसे खरिद सकते हैं ? ( How to Binance Coin Buy in India) ट्रेड कॉइन क्या है

यह काफी आसान प्रोसेस हैं आप भारत में बहुत सारे प्रकार से Binance Coin को खरिद सकते हों उसमें आप अलग एप्लिकेशन के जरिये या सीधे वेब के जरिये भी इसे खरिद सकते हैं, आप इसे WazirX प्लॅटफाॅर्म, CoinDCX, Coinswich Application के माध्यम से भी खरिद सकते हों, इस ऐप्स कि जानकारी हमने पहले के आर्टिकल में बताई हैं वहां जाके आप इसे पढ़ सकते हों.

अगर आप बायनांस की वेबसाईट में लाॅगिन करना चाहते हैं तो आप उनकी आधिकारिक वेबसाईट पर जाकर आप उसमे रजिस्टर करें और इसके लिये आपको ई-मेल आईडी, मोबाईल नंबर जैसे कुछ जानकारी देनी पड़ेगी, इसके बाद आप Binance Login कर सकते हैं.

क्या बायनांस काॅईन भारत में सुरक्षित हैं? (Binance Coin is Safe in India )
फिलाल तो भारत में किसी भी क्रिप्टोकरेसीं पर पाबंदी नहीं है कुछ दिन पहले Bitcoin पर बैन लगा दिया था लेकिन बाद में जाके उस निर्णय को वापिस लिया गया इसलिये आप भारत में बायनांस हो या कोई और क्रिप्टो करेंसी आप उसे बेच या खरिद सकते हों.
भारत में क्रिप्टो Currancy पर कोई कंट्रोल नहीं हैं लेकिन जल्द ही सरकार इसपर विधेयक लानेवाली है इससे इसपर नियंत्रण रखा जाये.

क्या भारत में यह लिगल है ? ( Binance Coin is Legal in India?)

वैसे देखा जाते तो यह एक तरिके से लिगल भी नहीं है और इसे illigal भी नहीं कहा जा सकता क्योंकि इसपर अभितक हमारे देश में कोई कानुन नहीं हैं.
लेकिन अगर आपके साथ कुछ धोकाधडी होती है तो कोई आपकी मदत नहीं ट्रेड कॉइन क्या है कर सकता और आप पोलिस के पास भी नहीं जा सकते इसलिये इसमें थोड़ी बहुत रिस्क फॅक्टर मौजुद हैं.

क्या हमें बायनांस काॅईन में इन्वेस्टमेंट करनी चाहिये या नहीं? (Is Binance Coin Investment Good or Bad?)
अगर हम Bitcoin , Ethereum, Dogecoin, Litecoin, Ripple सब की बात करें तो पिछले कई सालों में बहुत रिटर्न्स लोगों को दिये हैं लेकिन अगर देखा जाये तो इसपर किसी का कंट्रोल नहीं रहता और यह की कईसारे चीजों पर निर्भर करता है इसलिये इसमे उतनी हि राशी Investment करनी चाहिये जितनी अगर चली भी जाती है तो आपको ज्यादा कुछ फर्क नहीं पड़ेगा.

ऑल्टकॉइन (Altcoin) क्या है? (What are Altcoins)

Altcoins

बिटकॉइन के अलावा किसी भी ब्लॉकचेन प्रोटोकॉल से आने वाली सभी क्रिप्टोकरेंसी को ऑल्टकॉइन (Altcoins) कहा जाता है। उनका आविष्कार कॉइंस की कुल आपूर्ति, पुष्टिकरण समय ( confirmation time ) और माइनिंग के एल्गोरिदम ( algorithm ) आदि कारकों को विनियमित ( regulating ) करके बिटकॉइन में सुधार लाने के प्रयासों को दर्शाता है।

आम तौर पर, बिटकॉइन के रूप में ऑल्टकॉइन विकसित करने के लिए एक ही ढांचे का उपयोग किया जाता है, लेकिन इसमें माइनिंग की बेहतर प्रक्रिया, सस्ता या तेज लेन-देन सहित उन्नत सुविधाओं का उपयोग किया जाता है। हालाँकि, ऑल्टकॉइन के कई फीचर्स में समानता ( overlapping) संभव है, लेकिन जब उनकी एक-दूसरे के साथ तुलना की जाती है, तो वे कई भिन्नताएं प्रस्तुत करते हैं।

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 576