फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म BPN फिनकैप के डायरेक्टर एके निगमका कहना है कि वैल्यू इंवेस्टिंग निवेश का वह तरीका है, जिसमें उन शेयरों में निवेश होता है तो जो अपनी क्षमता से कम कीमत पर ट्रेड कर रहे होते हैं. यानी ऐसे शेयरों में निवेया करना वैल्यू इन्वेस्टिंग है, जो बाजार में डिस्काउंट पर मिल रहे होते हैं. हालांकि उनके फंडामेंटल को लेकर ज्यादा चिंता नहीं वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग होती है. अगर शेयर का फंडामेंटल मजबूत होता है तो उनमें आगे चलकर अच्छी ग्रोथ देखने को मिल सकती है.

Best books to learn stock market

ट्रेडिंग और निवेश की दुनिया में, ट्रेडिंग या चार्ट विश्लेषण के लिए अच्छी किताबें और सर्वश्रेष्ठ चार्टिंग सॉफ्टवेयर का होना जरूरी है। क्योंकि अगर कोई एक अच्छा निवेशक बनना चाहता है तो उसे निवेश से संबंधित किताबें पढ़नी चाहिए ताकि वे वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग वहां नॉलेज हासिल कर सकें और एक निवेशक के रूप में अधिक जानकार बन सकें और उसे एक बेहतर निवेशक बना सकती है। निवेश, व्यापार और मौलिक/तकनीकी विश्लेषण पर बहुत सारी किताबें लिखी गई हैं। लेकिन निवेश के लिए कुछ अहम् किताबें जिसे कई निवेशक पढ़ना चाहते हैं।

Table of Contents

Best Books 2022 On Invest ing

Investment के लिए वैसे तो बहुत सी किताबें लिखी जा चुकी हैं और हर एक किताब से सीखने को मिलता हैं पर कुछ बेहद पॉपुलर और वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग बेस्ट बुक्स के बारे में हम इस ब्लॉग के माध्यम से जानेगे !!

The Intelligent Investor -Investing की दुनिया में सबसे पॉपुलर और अच्छी किताबो में “The Intelligent Investor” शुमार हैं। यह किताब Mr.Benjamin Graham द्वारा लिखी गयी हैं।Benjamin Graham को Father of Value Investing के नाम से भी जाना जाता हैं । इस किताब में Stock Market के Value Investing में दी गयी सबसे अच्छी किताबो में से एक हैं इस किताब में कुछ गहरी बातें बताई गयी हैं जो वैल्यू इन्वेस्टिंग के बारे में बताती हैं और स्टॉक कैसे चुनने चाहिए एक वैल्यू इन्वेस्टर के तौर पर। यह किताब एक वैल्यू इन्वेस्टर के तोर पर स्टॉक के फंडामेंटल के बारे में बताती हैं और Investing और Speculation के अंतर को समझाती हैं मुख्यत इस किताब में तीन अहम् बिंदु हैं जो के वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग इस प्रकार हैं।

Best Books 2022 On Trading

Trading पे काफी किताबें लिखी जा चुकी हैं क्यूंकि एक कामयाब ट्रेडर बनने के लिए टेक्निकल के साथ ट्रेडिंग वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग psychology और रिस्क मैनेजमेंट बहुत मायने रखता हैं। और ये सब सही नॉलेज और एक्सपीरियंस से आता हैं और किताबें नोलेज का भंडार होती हैं। एक नए ट्रेडर के लिए अपनी ट्रेडिंग स्किल को बेहतरीन करेने के लिए किताब एक अच्छा माध्यम हो सकती हैं।ऐसे ही कुछ ट्रेडिंग बुक्स जो इस सेक्शन में बताई वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग जा रही हैं।

Trading For A Living-Trading For A Living किताब स्टॉक मार्किट में वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग ट्रेडिंग के ऊपर लिखी गयी किताबो में से एक हैं यह किताब Mr.Alexander Elder द्वारा लिखी गयी हैं जो की एक प्रोफेशनल ट्रेडर हैं । यह किताब इंडिविजुअल की ट्रेडिंग और साइकोलॉजी के बारे में बताती हैं। इस किताब में तीन अहम् बिंदु हैं जो इस प्रकार हैं

म्युचुअल फंड्स में इन्वेस्ट कैसे करे – आसान हिन्दी में बेहतरीन आर्टिकल्स की एक शुरुआती गाइड

म्युचुअल फंड इन्वेस्टमेंट हर एक इन्वेस्टर के बीच काफ़ी लोकप्रिय हैं । जिसका कारण है इससे मिलने वाले फायदे। इसके कईं फायदों में से कुछ सबसे महत्वपूर्ण फ़ायदे नीचे दिए हैं, जो इन्वेस्टर्स को अपनी ओर खींचते है और जिसकी वजह से –

  • इन्वेस्टर्स कितनी भी राशि के साथ शुरुआत कर सकते हैं ( 500 जितना कम भी )
  • इन्वेस्टर्स, अलग-अलग स्टॉक्स और डेट,गोल्ड जैसे इंस्ट्रूमेंट्स में इन्वेस्ट कर सकते हैं
  • हर महीने ऑटोमेटेड इन्वेस्मेंट्स शुरू कर सकते हैं (SIP)
  • डीमैट अकाउंट खोले वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग बिना भी इन्वेस्ट कर सकते हैं

शुरुआती इन्वेस्टर्स के लिए इस म्युचुअल फंड इन्वेस्टमेंट गाइड में हमने कुछ आर्टिकल्स को आपके लिए चुना है। जो म्युचुअल फंड को समझने में और कैसे इन्वेस्ट करना शुरू करें, इसमें आपकी मदद करेंगे। हम सुझाव देंगे कि आप इस पेज को बुकमार्क कर लें ताकि आप इन आर्टिकल्स को अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी पढ़ सकें।

mutual fund schemes: एक साल में 100 रुपए का निवेश बना 154 रुपए

शेयर बाजार ( stock market ) की तुलना में म्यूचुअल फंड स्कीम्स ( mutual fund schemes ) ने एक साल में करीबन ढाई गुना ज्यादा का रिटर्न दिया है। कुछ ऐसी स्कीम्स हैं, जिनमें 100 रुपए का निवेश एक साल में 154 रुपए हो गया, यानी 54 फीसदी का मुनाफा, जबकि इसी दौरान बीएसई सेंसेक्स ( BSE Sensex ) ने केवल 21 फीसदी का रिटर्न दिया है।

mutual fund schemes: एक साल में 100 रुपए का निवेश बना 154 रुपए

शेयर बाजार ( stock market ) की तुलना में म्यूचुअल फंड स्कीम्स ( mutual fund schemes ) ने एक साल में करीबन ढाई गुना ज्यादा का रिटर्न दिया है। कुछ ऐसी स्कीम्स हैं, जिनमें 100 रुपए का निवेश एक साल में 154 रुपए हो गया, यानी 54 फीसदी का मुनाफा, जबकि इसी दौरान बीएसई सेंसेक्स ( BSE Sensex ) ने केवल 21 फीसदी का रिटर्न दिया है। इक्रा ऑन लाइन के आंकड़े बताते हैं कि 28 जनवरी 2022 तक महिंद्रा मैनुलाइफ मल्टीकैप बढ़त योजना ने एक साल में 54.11 फीसदी का मुनाफा निवेशकों को दिया है। 2 साल में इसने 33.6 फीसदी और तीन साल में 29.1 फीसदी का रिटर्न दिया है। रैंकिंग के मामले में यह स्कीम एक, दो और तीन साल के समय में दूसरे नंबर पर रही है। इस प्रदर्शन पर महिंद्रा मैनुलाइफ म्यूचुअल फंड की इन हाउस इक्विटी चुनने की प्रक्रिया का पता चलता है, जिसे ग्रोथ, कैश फ्लो जनरेशन, मैनेजमेंट और वैल्यूएशन के पैमाने पर आंका जाता है।
इसी अवधि में अगर बड़ौदा मल्टीकैप का रिटर्न देखें तो इसने एक साल में 45.93 फीसदी, दो साल में 30.08 फीसदी और तीन साल में 24.44 फीसदी का फायदा दिया है। इन्वेस्को इंडिया मल्टीकैप की स्कीम ने इसी दौरान एक साल में 37.86 फीसदी का मुनाफा दिया, जबकि दो साल में 25.96 फीसदी और तीन साल में 22.80 फीसदी का रिटर्न दिया है। दरअसल, मल्टीकैप स्कीम में आप एक फंड के जरिए कई मार्केट कैप में निवेश कर सकते हैं। इसमें लार्ज, मिड और स्माल कैप शामिल होते हैं। मल्टीकैप फंड कम से कम तीनों सेगमेंट में 25-25 फीसदी का निवेश करते हैं। साथ ही ये विविधीकरण की भी सुविधा देते हैं।
मनीज वर्थ वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग फिनसर्व के पार्टनर गितेश कुलकर्णी कहते हैं कि मल्टी कैप फंड्स निवेशकों के वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग लिए एक अच्छा पोर्टफोलियो होता है। यह बाजार के उतार-चढ़ाव में जोखिम को कम करने में मदद करता है। साथ ही तमाम असेट क्लासेस में अवसरों से फायदा देता है। महिंद्रा मैनुलाइफ मल्टीकैप बढ़त योजना की रणनीति ग्रोथ और वैल्यू इन्वेस्टिंग की होती है। यह ढांचागत ग्रोथ और साइक्लिकल वैल्यू पर फोकस करती है। मल्टीकैप कैटेगरी स्कीम सभी तीनों मार्केट कैप में निवेश के अनुशासन का पालन करती है। यह सभी इक्विटी मार्केट को कैप्चर करती है। यह डायनॉमिक असेट अलोकेशन का नजरिया अपनाती है और यह सभी तमाम असेट क्लासेस में अलोकेशन करती है। इससे यह फायदा होता है कि बाजार के उतार-चढ़ाव से सुरक्षा मिलती है।
आर जी एसोसिएट के दीपक खंडेलवाल का कहना है कि निवेशक इस स्कीम में एसआईपी के जरिए भी निवेश कर सकते हैं जो एक छोटी सी रकम से शुरू हो सकती है। जो निवेशक इक्विटी ओरिएंटेड स्कीम में निवेश और विविधीकरण चाहते हैं, वे म्यूचुअल फंड की मल्टीकैप स्कीम को चुन सकते हैं। सरकार का फोकस लगातार मैन्युफैक्चरिंग वाले ग्रोथ पर होता है और इसमें प्रोडक्ट लिंक्ड इंसेंटिव और आत्मनिर्भर भारत एजेंडा सभी सेक्टर्स में लागू होते हैं। आने वाले समय में देश की अर्थव्यवस्था में मैन्युफैक्चरिंग की हिस्सेदारी बढ़ेगी और इससे रोजगार का निर्माण होगा।

निवेश के लिए ये हैं अच्छे वैल्यू फंड

Invesco इंडिया कांट्रा फंड

एसेट्स: वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग वैल्यू इनवेस्टिंग बनाम ग्रोथ इनवेस्टिंग 3929 करोड़ रुपये (31 मई, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 2.02% (31 मई, 2019)
लांच डेट: 11 अप्रैल, 2007
लांच के बाद से रिटर्न: 13.75 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 14.91 फीसदी
मिनिमम SIP: 500 रुपये

L&T इंडिया वैल्यू फंड

एसेट्स: 8404 करोड़ रुपये (31 मई, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.86% (31 मई, 2019)
लांच डेट: 8 जनवरी, 2010
लांच के बाद से रिटर्न: 14.57 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 13.80 फीसदी
मिनिमम SIP: 500 रुपये

Tata इक्विटी पीई फंड

एसेट्स: 5602 करोड़ रुपये (31 मई, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.88% (31 मई, 2019)
लांच डेट: 29 जून, 2004
लांच के बाद से रिटर्न: 18.92 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 12.64 फीसदी
मिनिमम SIP: 500 रुपये

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 623