Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।

क्‍या सर्दियों में हमेशा ठंडे रहते हैं आपके पैर? जानें कारण और बचाव के उपाय

भारत एक नई सोच

UPI: कई बार गूगल पे या अन्य माध्यमों से ऑनलाइन पेमेंट करते समय हम जल्दबाजी में होते हैं और इस बात का ध्यान रखना भूल जाते हैं कि हम सही जगह पैसे भेज रहे हैं या नहीं । ऐसे में होता ये है कि गलती से पैसा किसी दूसरे अकॉउंट में चला जाता है और हमारे पास सिवाय हाथ मलने के कुछ नहीं रह जाता। इसलिए ऑनलाइन पेमेंट करते समय न सिर्फ डिटेल्स का पूरा ध्यान रखना होता है बल्कि पूरी सावधानी भी बरतनी होती है ।

पर फिर भी यदि गलती से पैसा दूसरे अकॉउंट में चला जाये तो भी घबराने की जरूरत नहीं है । इस आर्टिकल में हम आपको पूरा प्रॉसेस बताएंगे कि गलत अकॉउंट में पैसे ट्रांसफर होने पर उन्हें कैसे रिफंड किया जा सकता है ।

पैसे वापस लेना है मुश्किल

UPI, आजकल ऑनलाइन पेमेंट एक आम बात हो गयी है और लोग छोटे से लेकर बड़े मनी ट्रांसफर भी ऑनलाइन करने लगे हैं । पर कई बार एक डिजिट की गलती से पैसे किसी और अकॉउंट में चले जाते हैं। ऐसे में आप सोच रहे होंगे कि क्या फिर से पैसे रिफंड किये जा सकते हैं ? तो आपको बता दें कि किसी और अकॉउंट में पैसे ट्रांसफर होने के बाद उसके वापस मिलने के चांस बहुत ही कम होते हैं । पर ऐसा भी नहीं है कि आप उस पैसे को वापस नहीं ले सकते ।

बता दें कि इसके लिए एक नियम है जिसे फॉलो करना होता है । UPI ने इस मसले में एक स्टेटमेंट जारी किया है- ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते वक्त पूरी सावधानी बरतें। कोई भी गलत इनपुट या अनवेरीफाईड डिटेल से आपका पैसा गलत अकॉउंट में ट्रांसफर हो सकता है।

तुरंत बैंक से करें संपर्क

ऑनलाइन पेमेंट करते समय गलती से किसी अन्य अकॉउंट में पैसे ट्रांसफर हो जाने पर सबसे पहले तो आपको ये करना है कि तुरंत अपने बैंक में सम्पर्क ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए जरुरी चीज़ें? करना होगा । जितनी जल्दी हो सके बैंक के कस्टमर केयर को फोन घुमा देना है । बैंक आपसे इसके बाद ट्रांजेक्शन की सारी डिटेल्स जैसे कब और कितना पेमेंट किया गया, किस अकॉउंट में सेंड करना था,

किस अकॉउंट में पैसा चला गया आदि जानकारियां मांगेगा जो आपको बैंक को ई मेल या अन्य माध्यम से प्रेषित करनी होगी । याद रहे यह काम जितनी तेजी से हो सके पैसे वापस पाने में उतनी ही आसानी होगी । आप इसके लिए ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का स्क्रीनशॉट भी बैंक के साथ शेयर कर सकते हैं ।

सिंगल चाइल्ड की परवरिश कैसे करें?- Single Child Parenting Tips in Hindi

सिंगल चाइल्ड की पेरेंटिंग करते समय माता-पिता को उन्हें पर्याप्त समय जरूर देना चाहिए। ऐसा न करने की वजह से बच्चों में अकेलेपन की समस्या का खतरा रहता है। अकेलेपन की वजह से सिंगल चाइल्ड पर नकारात्मक असर पड़ता है। ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता दोनों ही कामकाजी हैं या नौकरीपेशा हैं, उनके बच्चों में जिद्दी होने और अकेलेपन का शिकार होने का खतरा ज्यादा रहता है। इसलिए हर माता-पिता को सिंगल चाइल्ड की परवरिश करते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए-

Single Child Parenting Tips

परवरिश में परिवार और दोस्तों की लें मदद

सिंगल चाइल्ड की परवरिश करने में पेरेंट्स को परिवार और दोस्तों की मदद जरूर लेनी चाहिए। अगर आपके पास समय कम रहता है तो बच्चों के लिए परिवार के अन्य सदस्यों और दोस्तों से मदद ले सकते हैं। ऐसा करने से आपका बच्चा अकेला पड़ने से बचेगा।

सिंगल चाइल्ड की परवरिश कर रहे हैं, तो उनके दोस्त खुद बनें और दोस्त बनाने में मदद जरूर करें। ऐसा करने से बच्चा अकेला नहीं पड़ेगा और आपके पास समय न होने पर अपने दोस्तों के साथ समय व्यतीत कर सकता है। हालांकि दोस्त बनाने में उसे अच्छे और बुरे की पहचान करने में मदद जरूर करें।

बच्चे के साथ दोस्ती करें

जरूरत से ज्यादा बिजी रहने वाले और बच्चों के साथ अच्छी बॉन्डिंग न रखने वाले पेरेंट्स के बच्चे आदत बिगड़ने का खतरा रहता है। बच्चे के दोस्त बनकर अगर आप उसके साथ दोस्त जैसा व्यवहार करेंगे तो इससे उसे अकेलापन महसूस नहीं होगा। ऐसा करने से आपके बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर नहीं पड़ेगा।

महिलाओं के लिए सेहत का खजाना हैं ये 3 तरह के जूस

कोलकाता : एक महिला कि जिंदगी मुश्किलों से भरी हुई होती है, अगर वो वर्किंग वूमेन हैं तो बेहद मुमकिन हैं कि उन्हें ऑफिस के साथ-साथ घर की भी जिम्मेदारियां निभानी पड़ती होंगी। यही वजह के इस बिजी लाइफस्टाइल के कारण वो अपनी सेहत का ख्याल नहीं ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए जरुरी चीज़ें? रख पातीं। खास 30 साल के बाद बॉडी सेल्स का निर्माण धीमा होने लगता है, जिसका असर मसल्स, लिवर, किडनी समेत कई अंगों पर पड़ता है। इसके अलावा अगर हड्डियां कमजोर हो जाएं तो डेली लाइफ की नॉर्मल एक्टिविटीज में भी दिक्कतें आने लगती हैं। ऐसे में जरूरी है कि ऐसी डाइट ली जाए तो सेहत के लिए फायदेमंद हों।
महिलाओं को जरूर पीना चाहिए 3 तरह के जूस
महिलाओं ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए जरुरी चीज़ें? को अक्सर अपनी ब्यूटी का खास ख्याल रखना पड़ता है, जिसके लिए त्वचा और बालों की देखभाल की जाती है। इसके लिए जरूरी नहीं है कि महंगे और केमिकल बेस्ड प्रोडक्ट ही इस्तेमाल किए ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए जरुरी चीज़ें? जाएं, बल्कि आप अंदुरूनी पोषक के जरिए भी हेयर और स्किन में शाइन ला सकते हैं। आइए जानते हैं कि महिलाओं को ओवरऑल हेल्थ बेहतर करने के लिए क्या-क्या खाना चाहिए।
1. मिक्स फ्रूट जूस
फलों में कई तरह के विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं तो शरीर के साथ-साथ ब्रेन को भी फायदे पहुंचाने का काम करते हैं। इससे हार्ट अटैक जैसी दिल की खतरनाक बीमारियों से बचाव ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए जरुरी चीज़ें? होगा। साथ ही ये आंखों, स्किन और बालों के लिए भी काफी लाभकारी है।
2. नारियल पानी
नारियल पानी के फायदों के बारे में हम सभी वाकिफ हैं, लेकिन हर कोई इसे डेली डाइट में शामिल नहीं कर पाता। अक्सर जब हम समंदर किनारे छुट्टियां मनाने जाते हैं जो इस नेचुरल ड्रिंक का लुत्फ जरूर उठाते हैं क्योंकि इससे बॉडी का हाइड्रेट रखने में मदद मिलती है। नारियल पानी पीने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता और साथ ही त्वचा से जुड़ी परेशानियां भी पेश नहीं आतीं।
3. सब्जियों का जूस
ताजी सब्जियों को हमेशा से सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है, इसकी रेसेपीज तैयार करके तो आप अक्सर खाती होंगी, लेकिन अब वेजिटेबल जूस को भी डाइट में शामिल करने की आदत डाल लें। इससे शरीर को विटामिंस, एंटीऑक्सीडेंट्स, पोटैशियम, जिंक और कैरोनाइड्स जैसे पोषक तत्व मिलते हैं। इससे हाई ब्लड प्रेशर, खून की कमी, स्किन प्रॉब्लम जैसी परेशानी दूर हो जाती है।

सूरजभान सिंह

लंबी-चौड़ी कद काठी वाले अपने छोटे बेटे सूरजभान सिंह (Surajbhan Singh) को पिता फौज में भेजना चाहते थे. लेकिन किस्मत को तो कुछ और ही मंजूर था. सूरजभान की किस्मत की लकीरें तो उसे सियासत और जुर्म की उस दुनिया में ले गईं, जहां उसके नाम का सिक्का चलता था. एक वक्त ऐसा था जब लोग उनके नाम से कांपते थे. सूरजभान पर मंत्री बृज बिहारी प्रसाद की हत्या समेत 30 से ज्यादा मामले दर्ज हैं.

“छोटे सरकार” के नाम से मशहूर बिहार के बाहुबली नेता अनंत सिंह ( Anant Singh ) पर गंभीर अपराध के कई मामले दर्ज हैं. बचपन से ही दबंग तेवर रखने वाले अनंत सिंह अपने बड़े भाई की हत्या का बदला लेने के लिए अपराध की दुनिया में आए. भले ही ज्यादातर लोग इन्हें मोकामा के डॉन के नाम से जानते हों, लेकिन भूमिहार समाज के ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए जरुरी चीज़ें? लोग उन्हें अपना हीरो मानते हैं और छोटे सरकार के नाम से बुलाते हैं. लोगों की समस्याओं को सुलझाना, लोगों की मदद करना, गांव की लड़कियों की शादी में दहेज देना, रोजगार बांटना ऐसे कई काम थे जिन्होंने अनंत सिंह को इलाके के मसीहा के रूप में स्थापित किया.

दिलीप सिंह

“बड़े सरकार” के नाम से मशहूर दिलीप सिंह ( Dilip Singh ) बिहार के बाहुबली नेता अनंत सिंह के बड़े भाई थे. बात 80 के दशक की है. उस समय कामदेव सिंह मध्य बिहार में तस्कर थे जो हथियारों को छोड़कर हर तरह की चीजों की तस्करी करते थे. दिलीप सिंह कामदेव सिंह के राइट हैंड बन गए. इसी बीच कामदेव सिंह की हत्या हो गई और उसकी कुर्सी पर दिलीप सिंह ने कब्जा कर लिया.

नरेंद्र कुमार पांडेय (Sunil Pandey) उर्फ सुनील पांडेय को बिहार में “डॉक्टर डॉन” के नाम से भी जाना जाता है. इनके पास अहिंसा के प्रतीक महावीर पर तो पीएचडी की डिग्री है, लेकिन इनके अपराध का भी लंबा इतिहास है. सुनील पांडेय ने शहाबुद्दीन का शागिर्द बनकर अपराध की दुनिया में कदम रखा था.

धूमल सिंह

बाहुबली मनोरंजन सिंह (Dhumal Singh) वर्तमान में सारण के एकमा से जदयू विधायक हैं. कहा जाता है कि सारण में धूमल सिंह के नाम की तूती बोलती है और उनकी अनुमति के बिना इस क्षेत्र में एक परिंदा भी नहीं मारा जा सकता है. धूमल सिंह के खिलाफ बिहार, यूपी, दिल्ली, मुंबई और झारखंड में 150 से ज्यादा मामले दर्ज हैं. इनमें हत्या और हत्या के प्रयास का एक-एक मामला भी दर्ज किया गया है.

बेगुसराय की धरती पर पैदा हुए अशोक सम्राट (Ashok Samrat ) अपने दौर के सबसे बड़े गैंगस्टर बाहुबली थे. 90 के दशक में बिहार से लेकर उत्तर प्रदेश के गोरखपुर तक इनकी तूती बोलती थी. अशोक सम्राट पहला गैंगस्टर थे जो बिहार में पहली बार एके 47 जैसा हथियार लेकर आये और उसका इस्तेमाल अपराध करने में किया.

Indian Railways : कंफर्म टिकट के बाद भी नहीं मिल रही रेलवे में सीट, आप हो जाईए सर्तक

Indian Railways : कंफर्म टिकट के बाद भी नहीं मिल रही रेलवे में सीट, आप हो जाईए सर्तक

HR Breaking News, New Delhi : अगर आप भी अक्‍सर ट्रेन में यात्रा करते हैं तो यह खबर आपके काम की है. क्‍या हो जब आपने ट्रेन का कंफर्म ट‍िकट करा रखा हो और आप ट्रेन में चढ़े तो कोच में आपको सीट ही न म‍िले. शायद पहले तो आपको यकीन न हो लेक‍िन Lucknow to Banaras के बीच चलने वाली Intercity Express में ऐसा ही मामला सामने आया है. शायद यह क‍िसी को भी अच्‍छा नहीं लगेगा और इसे रेलवे का ब्‍लंडर ही कहा जाएगा. लखनऊ से वाराणसी जाने वाले एक यात्री के साथ हकीकत में यही हुआ है.

IRCTC से ऑनलाइन बुक कराया था ट‍िकट
दरअसल, विजय कुमार शुक्ला अपने भाई के साथ 14204 लखनऊ-वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस (Lucknow to Varanasi Intercity Express) से यात्रा कर रहे थे. यात्रा से पहले ट‍िकट कराने पर उन्‍हें सी1 (C1) कोच में बर्थ नंबर 74 और 75 अलॉट की गई थी. लेकिन कोच में चढ़ने पर पता चला कि इस नंबर की सीट बोगी में है ही नहीं. कोच में केवल 1 से 73 नंबर ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए जरुरी चीज़ें? तक ही सीट थीं. यात्री व‍िजय शुक्‍ला ने आईआरसीटीसी (IRCTC) के जरिए ट‍िकट की ऑनलाइन बुक‍िंग कराई थी.

रेटिंग: 4.12
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 604