भारत बांड ईटीएफ की दूसरी किस्त को जुलाई, 2020 में पेश किया गया था और इसे तीन गुना से अधिक का सब्सक्रिप्शन (अभिदान) मिला था. इसके जरिये 11,000 करोड़ रुपये जुटाए गए थे. दिसंबर, 2019 में इसके पहले चरण में 12,400 करोड़ रुपये की राशि जुटाई गई थी.

Value Investment Pick

भारत बॉन्ड ETF का तीसरा चरण 3 दिसंबर से खुलेगा, निवेश का मौका, 5000 करोड़ रुपये जुटाने का है टारगेट

New BHARAT Bond ETF : भारत बॉन्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (New BHARAT Bond ETF) का तीसरा चरण 3 दिसंबर को खुलेगा. एडलवाइस एसेट मैनेजमेंट ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि भारत बांड ईटीएफ के तीसरे चरण के तहत सरकार केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों की वृद्धि की योजना के वित्तपोषण के लिए 5,000 करोड़ रुपये जुटा सकती है. पीटीआई की खबर के मुताबिक, नई कोष पेशकश (NFO) 3 दिसंबर को खुलकर 9 दिसंबर को बंद होगी. नई सीरीज 15 अप्रैल, 2032 को मेच्योर होगी.

एनएफओ का मूल आकार
खबर के मुताबिक, एनएफओ का मूल आकार 1,000 करोड़ रुपये होगा. इसमें खुला ग्री शू विकल्प भी होगा. ग्री शू विकल्प करीब 4,000 करोड़ रुपये का रहेगा. यानी सरकार भारत बांड ईटीएफ के तीसरे चरण के तहत 5,000 करोड़ रुपये जुटा सकेगी. भारत बांड ईटीएफ का प्रबंधन एडलवाइस म्यूचुअल फंड करती है. इसके प्रबंधन के तहत 36,359 करोड़ रुपये की संपत्तियां हैं.

Government presented an opportunity to invest in PSU companies by issuing Bharat Bond ETF!: सरकार ने भारत बांड ईटीएफ जारी कर पीएसयू कंपनियों में निवेश का अवसर पेश किया!

  • Date : 05/12/2022
  • Read: 2 mins Rating : -->

भारत बांड ईटीएफ में 8 दिसंबर तक निवेश किया जा सकता है।

भारत बांड ईटीएफ

कहाँ कर सकते हैं निवेश?

बीपीएन फिनकैप के निवेशक ए. के. निगम ने फंड की जानकारी ते हुए बताया कि यह एक निष्क्रिय या पैसिव फंड जैसा है। इसमें केवल ‘एएए’ रेटिंग वाले बॉन्डों में पैसा लगाया जाता है, इसलिए यह एक सुरक्षित निवेश विकल्प है। फिलहाल इसका उच्च अर्जित लाभ 7.5 प्रतिशत है, अतः आशा की जा रही है कि इस फंड में निवेश करने से लाभ होगा। इस ईटीएफ को किसी स्टॉक एक्सचेंज से बहुत ही आसानी से खरीदा जा सकता है। इसके अलावा अगर आपके पास डीमैट खाता नहीं है तो आप म्यूचुअल फंड के माध्यम से भी इसमें निवेश कर सकते हैं।

चौथे चरण में जारी किए गये भारत बॉन्ड ईटीएफ की मैच्योरिटी अवधि दस साल की है, यानी यह अप्रैल 2033 तक मैच्योर होगा। मैच्योरिटी पर 7.5 प्रतिशत का लाभ होगा। चौथे चरण में सरकार की ओर से 1000 करोड़ रुपए के आधार सहित 4000 करोड़ रुपए के ग्रीन शो ऑप्शन से पैसा इकट्ठा किया जा रहा है। दिसंबर 2021 में सरकार ने 1,000 करोड़ रुपए की तीसरी किस्त का ऑफर दिया था, जिसमें करीब 6.2 ETF की मूल बातें गुना सब्सक्रिप्शन प्राप्त हुआ था।

Gold ETF के निवेशक फंड हाउस से ETF की मूल बातें ले सकते हैं सोने की फिजिकल डिलीवरी, जानिए क्या है प्रोसेस

Gold ETF के निवेशक फंड हाउस से ले सकते हैं सोने की फिजिकल डिलीवरी, जानिए क्या है प्रोसेस

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। जब-जब भूराजनैतिक बदलाव होते हैं, इक्विटी बाजारों में तेज गिरावट आती है या फिर वैश्विक अर्थव्यवस्था में अस्थिरता आती है, तब-तब सोना निवेश के लिए सेफ हैवन बनकर उभरता है। मौजूदा समय की बात करें, तो कोरोना वायरस महामारी के कारण औद्योगिक गतिविधियां ठप है और वैश्विक अर्थव्यवस्था में मंदी के अनुमान लगाए जा रहे हैं। ऐसे में इस समय भी निवेशक सोने की और ही देख रहे हैं। यही कारण है कि सोने का वैश्विक भाव सात महीने के उच्चतम स्तर पर बना हुआ है।

सोने में निवेश का एक माध्यम ईटीएफ यानी एक्सचेंज ट्रेडेट फंड भी है। यहां निवेशक इलेक्ट्रॉनिक रुप में सोने में निवेश कर सकते हैं। गोल्ड ईटीएफ एक्सचेजों पर लिस्टेड होते हैं। यहां इसे डीमेट अकाउंट के जरिए खरीदा और बेचा जा सकता है। गोल्ड ईटीएफ्स 99.5 फीसद शुद्धता वाला वास्तविक भौतिक सोना खरीद कर अपने एसेट्स बनाते हैं। यह भौतिक सोना बैंकों के संरक्षण में रहता है और सेबी के दिशानिर्देशों के अनुसार समय-समय पर इसका मूल्य लगता है। गोल्ड इटीएफ्स का भौतिक रूप से सोना रखना निवेशकों को एक अलग विश्वास देता है।

Bharat Bond ETF: 3 दिसंबर से सरकार देगी कमाई का शानदार मौका, मिल सकता है FD से ज्यादा रिटर्न

Bharat Bond ETF: 3 दिसंबर से सरकार देगी कमाई का शानदार मौका, मिल सकता है FD से ज्यादा रिटर्न

भारत बॉन्ड ईटीएफ (Bharat Bond ETF) का तीसरा चरण 3 दिसंबर को खुलेगा. सरकार का इरादा इसके जरिए 10,000 करोड़ रुपये जुटाने का है. यह सब्सक्रिप्शन 9 दिसंबर को बंद हो जाएगा. इसके अलावा इश्यू का मूल आकार ‘मुक्त ग्रीन शू विकल्प’ (Greenshoe option) के साथ 1,000 करोड़ रुपये का होगा. ईटीएफ की तीसरी किस्त के अप्रैल 2032 में मैच्योर होने की उम्मीद है. भारत बॉन्ड ईटीएफ वित्त मंत्रालय के तहत निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) की एक पहल है और एडलवाइस एमएफ द्वारा प्रबंधित है.

भारत बॉन्ड ईटीएफ एक एक्सचेंज ट्रेडेड फंड है, जो सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के बॉन्ड में निवेश करता है. मौजूदा समय में ईटीएफ केवल सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के ‘AAA’ रेटिंग वाले बॉन्ड में निवेश करता है. योजना सूचना दस्तावेज (एसआईडी) पहले ही पूंजी बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (Sebi) के पास दाखिल किया जा चुका है.

पहली और दूसरी किस्त से जुटाए इतने करोड़

बता दें कि भारत बॉन्ड ईटीएफ की दूसरी किस्त जुलाई 2020 में लॉन्च किया गया था. यह तीन गुना से ज्यादा ओवर ETF की मूल बातें सब्सक्राइब हुई था और सरकार ने इससे 11,000 करोड़ रुपये जुटाए थे. सरकार ने दिसंबर 2019 में अपनी पहली पेशकश में लगभग 12,400 करोड़ रुपये प्राप्त किए थे.

फिलहाल, अलग-अलग मैच्योरिटी वाले चार भारत बॉन्ड ईटीएफ हैं- अप्रैल 2023, अप्रैल 2025, अप्रैल 2030 और अप्रैल 2031. ये ईटीएफ 31 अक्टूबर, 2021 तक 36,359 करोड़ रुपये की निवेशक संपत्ति का प्रबंधन कर रहे हैं.

भारत बॉन्ड ईटीएफ ने अपनी दूसरी किस्त में 5 और 12 साल के मैच्योरिटी विकल्प की पेशकश की, जबकि पहली किस्त में मैच्योरिटी विकल्प 3 और 10 साल के लिए थे.

भारत बॉन्ड ईटीएफ की खास बातें-

>> यह देश का पहला कॉरपोरेट बांड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) है >> भारत बॉन्ड ईटीएफ में कम से कम निवेशक 1,000 रुपये निवेश कर सकते ETF की मूल बातें हैं. इसके बाद 1,000 रुपये के मल्टीपल में निवेश किया जा सकता है. >> एक्सचेंज ट्रेडेड फंड सिर्फ सार्वजनिक क्षेत्र के AAA रेटिंग वाले बांड में निवेश करेगा.

भारत बॉन्ड ईटीएफ के बाद, म्यूचुअल फंड उद्योग में पैसिव रूप से मैजनेज डेट फंडों में उछाल आया है. सेबी के पास 11 पैसिव-मैनेज डेट योजनाएं दायर की गई हैं, जबकि कई पहले ही फंड हाउस द्वारा शुरू की जा चुकी हैं.

Investment Option: 3 दिसंबर से सरकार देगी कमाई का शानदार मौका, खुलेगा Bharat Bond ETF, जानें डिटेल्स

डिंपल अलावाधी

Bharat Bond ETF

  • भारत बॉन्ड ईटीएफ का तीसरा चरण 3 दिसंबर 2021 को खुलेगा।
  • इसके जरिए सरकार की योजना 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की है।
  • यह देश का पहला कॉरपोरेट बॉन्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) है।

Investment Option: अगर आप भी किसी विश्वसनीय विकल्प में निवेशक करने की सोच रहे हैं तो यह खबर आपके लिए लाभदायक साबित हो सकती है। भारत बॉन्ड ईटीएफ (Bharat Bond ETF) के जरिए कमाई करने वाले निवेशकों के लिए अच्छी खबर है। ऐसा इसलिए क्योंकि अगले महीने की शुरुआत में सरकार भारत बॉन्ड ईटीएफ लॉन्च ETF की मूल बातें कर सकती है। भारत बॉन्ड ईटीएफ में निवेशकों को बढ़िया रिटर्न मिलता है।

रेटिंग: 4.85
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 320